CBSE टॉपर ने कोरोना को देखकर कहा- IAS बाद में, पहले डॉक्टर बनकर करनी है देश की सेवा

0
24
मेघा प्रिया को मिठाई खिलाते उनके पिता, साथ में उनकी माँ (फ़ोटो : सीतामढ़ी लाइव)

सीतामढ़ी में लगातार दूसरी बार सीबीएसई की परीक्षा में मेघा प्रिया जिला टॉप आईं है. इन्होंने सीबीएसई बोर्ड द्वारा आयोजित 12वीं की परीक्षा में 96.6 प्रतिशत अंक लाकर सफलता हासिल की है. सीतामढ़ी शहर के फिजिकल गली स्थित स्वामी विवेकानंद नगर निवासी विनय कुमार व शिक्षिका संजीता कुमारी की पुत्री मेघा दसवीं में प्रथम जिला टॉपर रहने के बाद इस बार 12वीं की परीक्षा में द्वितीय जिला टॉपर आई है.

मेघा प्रिया ने बताया कि वह पहले आईएएस अधिकारी बनना चाहती थी लेकिन कोरोना महामारी को देखते हुए वह पहले डॉक्टर बनना चाहती हैं. उन्होंने कहा कि इस वक्त देश को डॉक्टर की ज्यादा जरूरत है. डॉक्टर बनकर वे लोगों की सेवा करना चाहती हैं. मेघा के पिता अंग्रेजी दवा के क्षेत्र से जुड़े हैं और उनकी माता कुशल ग्रहणी होने के साथ सरकारी स्कूल में शिक्षिका है.


मेघा के जिला टॉप आने की खबर सुनते ही उनके गांव सोनबरसा थाना क्षेत्र के कन्हौली से लोग काफ़ी खुश हैं. उनके दादा बिलट महतो व उनके नाना सत्येंद्र कुमार समेत तमाम परिजन उन्हें फोन कर लगातार बधाइयां दे रहे हैं. इससे पूर्व वर्ष 2018 में मेघा ने दसवीं की परीक्षा में 98 प्रतिशत अंक लाकर जिले में पहला स्थान प्राप्त किया था.

अपनी सफलता पर मेघा ने कहा कि सीतामढ़ी में रहते हुए भी अच्छी पढ़ाई पूरी की जा सकती है. मध्यम वर्गीय परिवार कोटा, दिल्ली आदि स्थानों पर ना जाकर सीतामढ़ी में भी मेहनत कर सफल हो सकता है. इसके अलावा उन्होंने कहा कि जो लोग सफल नहीं हो पाए हैं, उन्हें निराश नहीं होना चाहिए. आए दिन आत्महत्या जैसे मामले बढ़ रहे हैं, लोगों को असफलता से सीखकर दोबारा प्रयास करना चाहिए.

Input : Rahul Kumar Lath.



Comment Box