48 घंटे बाद रेल मंत्रालय ने वाप‍स ल‍िया फैसला, अभी नहीं मिलेगी जनरल टिकट

0
66

Railways News: रेल मंत्रालय ने 48 घंटे बाद जनरल टिकट जारी करने का अपना फैसला वापस ले लिया है। यात्री अभी पैसेंजर और एक्सप्रेस ट्रेनों में जनरल टिकट पर यात्रा नहीं कर सकेंगे। सिर्फ कंफर्म टिकट पर ही स्टेशन में एंट्री और सफर कर सकेंगे। रेल मंत्रालय ने देश भर के सभी जोनल रेलवे को नए आदेशों से अवगत करवा दिया है। इन आदेशों से स्पष्ट हो गया है रेल मंत्रालय अभी एक्सप्रेस, सुपरफास्ट (सामान्य) ट्रेनें चलाने के मूड में नहीं है। कोरोना काल में सिर्फ स्पेशल ट्रेनें ही पटरी पर नजर आएंगी जिनमें शारीरिक दूरी नियम बरकरार रहेगा और वेटिंग टिकट लागू नहीं होगा।

बता दें कि नौ माह के बाद रेलवे ने एक बार फिर से जनरल टिकट पर यात्रा करने का फरमान 8 दिसंबर को जारी किया था। रेलवे बोर्ड ने सभी जोनल को दिशा निर्देश जारी कर जनरल टिकट स्टेशनों पर बेचने के आदेश जारी किए थे। रेलवे स्टेशनों पर कब से टिकट जारी होंगे, इसका फैसला लेने का अधिकार जोनल रेलवे को दिया गया था। आदेशों में कहा गया था कि शारीरिक दूरी के नियम को बरकरार रखते हुए ट्रेनों में जनरल टिकट की बिक्री स्टेशनों पर कर सकते हैं।


इन आदेशों के बाद उम्मीद लगी थी कि रेलवे स्पेशल ट्रेनों के अलावा पैसेंजर ट्रेन और मौजूदा समय दौड़ रही स्पेशल ट्रेनों के साथ जनरल डिब्बे लगा देगा। सबसे अधिक इसका फायदा दैनिक यात्रियों को होना था। इसके अलावा जन साधारण टिकट बुकिंग सेवा (जेटीबीएस) भी शुरू करने की अनुमति दे दी थी। रेलवे स्टेशन के अलावा शहर की दूसरी जगहों पर चलने वाली जेटीबीएस से भी यात्री जनरल टिकट खरीदें जा सकते थे। लेकिन, रेल मंत्रालय ने टिकट बिक्री पर अगले आदेशों तक रोक लगा दी है।

जनता कर्फ्यू यानी 22 मार्च से जनरल टिकट की बिक्री नहीं हो रही थी। स्पेशल ट्रेन के रूप में जिन ट्रेनों का संचालन हो रहा है। लॉकडाउन के पूर्व ऑटोमेटिक टिकट वेंडिंग (एटीवीएम) से स्मार्ट कार्ड के माध्यम से टिकट लेने वाले यात्रियों को भी झटका लगा था। ट्रेन बंद होने से कई यात्री ऐसे थे जिनके स्मार्ट कार्ड में बैलेंस था। हालांकि, बाद में रेल मंत्रालय ने ऐसे यात्रियों को राहत दे दी थी।



Comment Box