होली को लेकर असामाजिक तत्वों पर होगी सीसीए की कार्रवाई | सीतामढ़ी लाइव

0

रंगों के त्योहार होली इस बार भी शांति और उत्साह के साथ मनेगा। हालांकि होली के दौरान असामाजिक तत्वों की खैर नहीं होगी। डीएम डॉ. रणजीत कुमार सिंह और एसपी अमरकेश डी ने शुक्रवार को समाहरणालय में आयोजित पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों की बैठक में संयुक्त रूप से आदेश दिया।

बैठक में डीएम ने असामाजिक तत्वों को चिह्नित कर निरोधात्मक कार्रवाई का आदेश दिया। कहा कि शातिर अपराधियों के खिलाफ सीसीए की कार्रवाई की जाएगी। जरुरत पड़ी तो अपराधियों को जिला बदर भी किया जाएगा। डीएम-एसपी ने अपराधी और असामाजिक तत्वों से कड़ाई से निपटने का आदेश दिया। बैठक में डीएम ने कहा कि होली को लेकर जिले के सभी अधिकारी और कर्मचारियों के अवकाश पर रोक लगा दी है। अधिकारी और कर्मचारियों की छुट्टियों को रद्द करते हुए मुख्यालय में रहने का आदेश दिया गया है। इसके तहत विशेष परिस्थिति में डीएम की स्वीकृति पर ही कोई अधिकारी या कर्मचारी मुख्यालय छोड़ेंगे। बगैर डीएम की स्वीकृति के मुख्यालय छोड़ने की स्थिति में संबंधित अधिकारी और कर्मचारी के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।


डीएम ने ने सभी एसडीओ, डीएसपी, बीडीओ, थानाध्यक्ष और सभी सीओ को नियमित रूप से शांति समिति की बैठक कराने का आदेश दिया। उन्होंने पर्व के पूर्व सारी तैयारियां पूरी कर लेने का निर्देश दिया। डीएम ने स्पष्ट तौर पर कहा है कि होली के दौरान समाजिक शांति और सदभाव में खलल डालने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। असामाजिक तत्वों को चिह्नित कर उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। जबकि डीजे पर पूरी तरह प्रतिबंध रहेगा। डीएम ने शराब के धंधेबाज और शराबियों पर कड़ी नजर रखने का निर्देश दिया गया। सभी संवेदनशील स्थानो पर सतर्कता बरतने और वाहनों के सघन जांच का आदेश दिया गया। होली को लेकर सभी अस्पतालों को अलर्ट रहने का निर्देश दिया गया। जबकि थानाध्यक्षों को रात्रि गश्ती बढ़ाने का निर्देश दिया गया।

डीएम ने कहा कि सभी स्थानों पर लगे सीसीटीवी की जांच अनिवार्य रूप से करने का आदेश दिया। वहीं एसपी ने कहा कि होली के अवसर पर जिले में पर्याप्त संख्या में पुलिस बल की तैनाती होगी। उन्होंने सभी थानाध्यक्षों को अनिवार्य रूप से शांति समिति की बैठक कराने का निर्देश दिया। एसपी ने पुलिस अधिकारियों को सूचना तंत्र को अधिक से अधिक मजबूत करने का निर्देश। दिया। मौके पर सभी एसडीओ, एसडीपीओ, बीडीओ, सीओ व थानाध्यक्ष उपस्थित थे।


Sources:- Jagran | Sitamarhi.


Comment Box