सुरों की महफ़िल से शुरू हुआ सीतामढ़ी महोत्सव

0

आस्था, भक्ति, कला, साहित्य और संस्कृति को बयां करती गीत-संगीत से सजी सूरों की महफिल के बीच शुक्रवार की शाम माता जानकी की जन्मस्थली सीतामढ़ी के पुनौरा धाम में तीन दिवसीय महोत्सव का शुभरंभ हुआ।

जिला प्रशासन और पर्यटन विभाग के तत्वावधान में आयोजित महोत्सव का सूबे के नगर विकास एवं आवास मंत्री सह जिले के प्रभारी मंत्री सुरेश शर्मा, पर्यटन मंत्री कृष्ण कुमार ऋषिदेव और सांसद सुनील कुमार पिटू ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्जवलित कर समारोह का उदघाटन किया।

महोत्सव में जहां तृप्ति शाक्या ने भक्ति रस के तराने छोड़ तो वॉलीवुड कलाकार प्रिया मल्लिक और फुल सिंह ने नज्मों के जरिए धमाल मचाया। रवींद्र जॉनी ने लोगों को हास्य के रंग में डूबो जम कर हंसाया। जबकि इजेडसीसी के कलाकारों ने लोक नृत्य की प्रस्तुति के जरिए शमा बांधा। जबकि स्थानीय कलाकारों दीक्षा कुमारी, निरूपा कुमारी, कुमार अशोक, संतोष झा, राघवेंद्र झा, संदीप कुमार आदि ने सुरों की ऐसी महफिल सजाई की माता जानकी की जन्मस्थली रोशन हो गई।


कार्यक्रम का मुख्य आकर्षण विद्या भारती की छात्राओं द्वारा पेश साूहिक गीत और नृत्य रहा। मंच का संचालन नवनीत कुमार और रूपम कुमारी ने किया। कार्यक्रम के दौरान बंगाल पुरुलिया का छऊ नृत्य ने बरबस सभी दर्शकों को मंत्रमुग्ध कर दिया। इसके अलाव जट-जटिन नाच लोक नृत्य का जीवंत प्रस्तुति रही।

आदित्य इंटरटेनमेंट के वॉलीवुड कलाकारों ने अपनी प्रस्तुतियों से मंत्रमुग्ध कर दिया।


कलाकारों के विशेष आग्रह और दर्शकों की जोरदार मांग पर डीएम डॉ. रणजीत कुमार सिंह ने -दिल का आलम मैं क्या बताउं तुझे.., गीत गाकर समारोह में जान ला दी।

Input : Dainik Jagran.



Comment Box