सीतामढ़ी : वैक्सीन के आने तक मास्क व शारीरिक दूरी ही बचाव

0
20

वैक्सीन के आने तक मास्क ही कोरोना संक्रमण से बचाव है। यह जानते हुए भी मास्क की अनदेखी करने वालों के लिए यह परिवार एक उदाहरण है। डुमरा के कैलाशपुरी वार्ड-9 में धर्मदेव सिंह व बिदा देवी का पूरा परिवार मास्क के महत्व को बखूबी समझता है। दूसरों को भी इसके लिए जागरूक करता है। बबिता देवी, जिज्ञाषा देवी कहती हैं कि जिलाधिकारी अभिलाषा कुमारी शर्मा की पहल को देखकर यह परिवार मास्क पहनने के लिए दूसरों को जागरूक करता है

बबिता देवी, जिज्ञाषा देवी कहती हैं कि जिलाधिकारी अभिलाषा कुमारी शर्मा की पहल को देखकर यह परिवार मास्क पहनने के लिए दूसरों को जागरूक करता है। डीएम लगातार कैंपेन चला रही हैं, लोगों से इस बात के लिए अपील कर रही हैं, सोशल मीडिया पर भी उनकी अपील देखी-सुनी जाती है। लोगों को उसपर अमल करना चाहिए। सुधेश कुमार सिंह, रवि कुमार का कहना है कि कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए मास्क और शारीरिक दूरी का पालन ही एकमात्र कारगर उपाय है। इसमें जरा भी लापरवाही संक्रमण के खतरे को बढ़ा देगी। श्वेता कुमारी, स्वाति कुमारी, सृष्टि कुमारी का भी यहीं कहना है। 


श्वेता ने कहा कि कोरोना संक्रमण को लेकर वह अपने कॉलेज आरएसएस महिला कॉलेज में छात्राओं को इसके लिए जागरूक करती रही हैं। नित्या कुमार, यश राज जैसे नन्हें मासूम भी मास्क के प्रति कितना सजग और जागरूक हैं, यह तस्वीर में देखी जा सकती है।



Comment Box