सीतामढ़ी में मुखिया पति की दबंगई पर पुलिस नरम लेकिन पीड़ित पर हुआ SC-ST केस, भड़के लोग

0
141

सीतामढ़ी जिले के रीगा प्रखंड क्षेत्र के रीगा प्रथम पंचायत की मुखिया के पति बिंदेश्वर पासवान एवं उसके पुत्र द्वारा स्थानीय निवासी सुशील शाह की बेरहमी से पिटाई का मामला गरमा गया है. स्थानीय लोगों ने बुधवार को इसके खिलाफ जमकर प्रदर्शन किया.

मामले से गुस्साए तकरीबन सैकड़ों महिलाओं ने बुधवार को रीगा – मेजरगंज पथ में इमली बाजार के नजदीक टायर जलाकर प्रदर्शन किया. इसके अलावा पुलिस के खिलाफ नारेबाजी भी की गई. पुलिस पर रिश्वत लेकर मामले को दबाने का भी आरोप लगाया.


करीब 4 घंटे तक जाम रहने के बाद पुलिस की हिम्मत नहीं हुई कि मौके पर जाकर लोगों को समझा बुझा सके. बाद में स्थानीय जनप्रतिनिधियों सामाजिक कार्यकर्ताओं के समझाने पर जाम समाप्त हुआ. आरोपित बिंदेश्वर पासवान ने घायल युवक का खर्च उठाने की बात कही तब जाकर लोग शांत हुए.

इस मामले में मुखिया के पति बिंदेश्वर पासवान का पक्ष है कि वह किसी विवाद को सुलझाने गांव में गए थे. जहां सुशील साह पहले से खड़ा था और सुशील साह ने उन्हें थप्पड़ जड़ दिया. इससे नाराज उनके समर्थकों एवं उसके पुत्र ने सुशील शाह के साथ मारपीट की. वहीं, इस पर सुशील शाह के परिवार का पक्ष यह है कि सुशील मानसिक रूप से विक्षिप्त है. उन्होंने सीतामढ़ी लाइव को डॉक्टर से करा रहे इलाज का पुर्जा भी दिखाया हैं.

गांव के लोगों का आरोप है कि इस मामले में सीतामढ़ी की रीगा थाना पुलिस आरोपी मुखिया पति से बिक गयी. युवक के परिजनों ने मुखिया पति के खिलाफ थाने में प्राथमिकी दर्ज करायी लेकिन पुलिस ने उसे थाने से ही बेल दे दिया. इसके बाद मुखिया पति के बयान के आधार पर पुलिस ने पीडित युवक और उसके परिजनों के खिलाफ एससी-एसटी एक्ट में मुकदमा दर्ज कर दिया.

गौरतलब है कि मंगलवार को पंचायत की मुखिया के पति बिंदेश्वर पासवान ने पंचायत बुलाई. इस पंचायत में सुशील साह पर बिना किसी सुनवाई के दो सौ डंडे बरसाने का आरोप लगा है. इसके बाद युवक की हालत खराब हुई. सीतामढ़ी सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया लेकिन चिकित्सकों ने तत्काल मुजफ्फरपुर रेफर कर दिया था.

Input : Gulshan Kumar Mitthu.



Comment Box