सीतामढ़ी में तैनात एक सरकारी अधिकारी के किडनैप का प्रयास

0
57

बिहार के मुजफ्फरपुर के अहियापुर थाने के रसूलपुर स्थित घर से रविवार की रात सीतामढ़ी के बोखरा प्रखंड के पंचायती राज पदाधिकारी सुकाश रजक के अपहरण का प्रयास किया गया। 12 बाइक सवार 36 अपराधी पहुंचे थे और सभी पिस्टल से लैस थे।

अपराधियों ने उन्हें जबरन बाइक पर बैठाने का प्रयास किया। शोरगुल होने पर मोहल्लेवासियों ने एकजुट होकर अपराधियों को खदेड़ दिया। सूचना पर पहुंची अहियापुर पुलिस ने मौके से अपराधियों की तीन बाइक जब्त की है।


घटना के संबंध में प्रखंड पंचायती राज पदाधिकारी सुकाश रजक ने थाने में एफआईआर के लिए आवेदन दिया है। इसमें 36 अज्ञात अपराधियों को आरोपित किया है। घटना के पीछे पुरानी रंजिश बतायी जाती है। उन्होंने बताया कि वह सीतामढ़ी से रात को घर लौट रहे थे। इस क्रम में सहबाजपुर में एक साथी से मिलने चले गए।

रात करीब साढ़े नौ बजे वहां से वापस आने के दौरान ही एक दर्जन से अधिक बाइक सवार अपराधी पीछा करते हुए घर तक आ धमके। अधिकांश के पास पिस्टल थी। अपराधी जबरन बाइक पर बैठाने का प्रयास करने लगे। शोर-शराबा होने पर मोहल्ले के लोग जुटे और अपराधियों को खदेड़ा। अपराधी तीन बाइक छोड़कर फरार हो गए।

उन्होंने बताया कि पूर्व में उन्हें व्हाट्सएप पर धमकी भी मिली थी। आशंका जतायी कि अपहरण के बाद अपराधी उनकी हत्या करना चाहते थे। इधर, अहियापुर थाने के प्रभारी थानेदार ने बताया कि रसूलपुर गांव में पदाधिकारी को दरवाजे से उठाने का प्रयास किया गया था। मौके से तीन बाइक जब्त की गई है। अपराधियों की पहचान की जा रही है। आवेदन के आधार जांच कर एफआईआर दर्ज की जाएगी।

Input : Hindustan.



Comment Box