सीतामढ़ी के ये डीएसपी लगाते हैं कोचिंग क्लास, कराते हैं सिविल सर्विसेज की मुफ़्त तैयारी | सीतामढ़ी लाइव

0
162
SDPO, Dr. Kumar Veer Dhirendra [File Photo]

आए दिन भले ही सीतामढ़ी पुलिस के ऊपर सवालिया निशान उठते रहे हो लेकिन आज हम आपको एक ऐसे पुलिस अधिकारी के बारे में बताने जा रहे हैं जो अपनी ड्यूटी के साथ युवाओं के भविष्य को संवारने में लगे हैं. सीतामढ़ी सदर अनुमंडल के वर्तमान अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी डॉ कुमार वीर धीरेंद्र पुलिस पदाधिकारी और शिक्षक होने के साथ ही गाइडर की भी भूमिका अदा करते हैं. डॉ° कुमार वीर धीरेंद्र अपने व्यस्ततम समय में से दो – तीन घंटे निकाल कर सप्ताह में 2 दिन छात्रों को पढ़ाते एवं मोटिवेट करते हैं. देश की सबसे कठिनत्तम परीक्षाओं, आईएएस, आईपीएस समेत बीपीएससी व अन्य पीसीएस परीक्षाओं की तैयारी डॉ कुमार वीरेंद्र द्वारा कराई जाती है. सीतामढ़ी शहर के श्री राधाकृष्ण गोयनका कॉलेज के एक कमरे में इस कक्षा का संचालन हो रहा है. तकरीबन 4 माह पूर्व की गई कक्षा में शुरुआती दौर में दर्जनभर छात्र थे जो अब बढ़कर सौ से अधिक हो गए हैं. डॉ कुमार वीरेंद्र बताते हैं कि सामुदायिक पुलिसिंग का यह एक हिस्सा है. इससे आम जनता के अंदर पुलिस की छवि मित्रवत बनती है. वह छात्रों को पढ़ाते हैं तो इसके बदले उन्हें छात्रों से रिजल्ट की अपेक्षा रखते हैं. आगे डॉ कुमार कहते हैं कि फिलहाल सप्ताह में 2 दिन कक्षा का संचालन किया जा रहा है और जरूरत पड़ने पर इसे बढ़ाया जाएगा. कक्षा में पढ़ने वाले मृत्युंजय झा नामक छात्र बताते हैं कि छात्रों की संख्या पिछले 4 महीनों में तेजी से बढ़ी है. इतनी लोकप्रियता बढ़ने का कारण क्लास के शिक्षक डॉ कुमार वीर धीरेंद्र सर के पढ़ाने का तरीका है. सीतामढ़ी लाइव के संपादक राहुल कुमार लाठ ने कक्षा में पढ़ रहे कई छात्रों से बात की और सभी ने पुलिस पदाधिकारी डॉ° कुमार वीर धर्मेंद्र की प्रशंसा की.

कौन है डॉ° कुमार वीर धीरेंद्र :—

डॉ कुमार वीरेंद्र मूल रूप से नालंदा जिले के रहने वाले हैं. इनकी प्राथमिक शिक्षा झारखंड के एक सरकारी स्कूल से पूरी हुई. बाद में उन्होंने मैट्रिक व इंटरमीडिएट की परीक्षा बिहार बोर्ड से दी. इसके बाद डॉ कुमार दिल्ली चले आए. दिल्ली में उन्होंने जेएनयू में एंट्रांस परीक्षा दी जिसमें पास होने के बाद उन्हें दाखिला मिल गया. 2010 में उन्होंने भू – राजनीति विज्ञान से पीएचडी कर ली थी. जेएनयू के जिस हॉस्टल डॉ° कुमार रहते थे उन्होंने वहीं अपने साथ में रह रहें छात्रों को पढ़ाना शुरू कर दिया. उनके पास यूजीसी से एनईटी जेआरएफ की भी डिग्री है. उनका सिलेक्शन एनडीए की परीक्षा में भी हुआ है. गुजरात के गांधीनगर स्थित अंतरराष्ट्रीय अध्ययन संस्थान में सुरक्षा अध्ययन केंद्र में डॉ कुमार प्रोफेसर रहे हैं. वर्ष 2016 बीपीएससी की परीक्षा पास करने के बाद उनको दिसंबर 2016 में सीतामढ़ी सदर का अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी नियुक्त कर दिया गया तब से अब तक अपने पद पर बने हैं.


© Rahul Kumar Lath | Team


Comment Box