सीतामढ़ी के डुमरा में दहेज के लिए विवाहिता की हत्या

0

बतौर दहेज दो लाख रुपये और बाइक नहीं मिलने से नाराज पति ने अपनी 28 वर्षीया पत्नी मिलन देवी की गला दबा कर हत्या कर दी, वारदात को आत्म हत्या करार देने के लिए शव को फंदे से लटका दिया.

वारदात के बाद पति रून्नीसैदपुर थाना क्षेत्र के प्रेमनगर निवासी मुरारी साह डुमरा थाने के मेथौरा बाजार स्थित किराये के मकान में शव छोड़ कर फरार हो गया। सूचना के बाद मौके पर पहुंची डुमरा थाना पुलिस ने मामले की जांच की। वहीं पोस्टमार्टम के बाद शव को मृतका की मां मुजफ्फरपुर जिले के हथौड़ी थाना क्षेत्र के मधेपुरा निवासी चंद्रकला देवी को सौंप दिया। घटना की बाबत मृतका की मां ने डुमरा थाने में प्राथमिकी दर्ज कराई है, जिसमें रून्नीसैदपुर थाने के प्रेमनगर निवासी मृतका के पति मुरारी साह के अलावा किशन साह, गोपाल साह, राजा कुमार, कन्हैया कुमार, ससुर विनोद साह व सास मंजु देवी को आरोपित किया है।

दर्ज प्राथमिकी के अनुसार मिलन देवी की शादी प्रेमनगर के विनोद साह के बड़े पुत्र मुरारी साह से वर्ष 2011 में हुई थी। शादी के कुछ दिन बाद से ही पति समेत ससुराल वाले दहेज में बाइक व दो लाख रुपये मायके से लाने का दवाब बनाने लगे। इन्कार करने पर उसे प्रताड़ित किया जाने लगा। कई बार उसे ससुराल से भगा दिया गया। बाद में सुलह सलाह के बाद उसे प्रेमनगर पहुंचाया गया था। इसी बीच मिलन देवी दो पुत्री और एक पुत्र की मां भी बन गई। वर्तमान में भी वह गर्भवती थी। पति मुरारी साह डुमरा थाना के मेथौरा बाजार पर सोने-चांदी की दुकान चला रहा है। वह मेथौरा बाजार पर ही किराये पर मकान लेकर पत्नी और बच्चों के साथ रहता था। इसी बीच बुधवार की रात उसने पत्नी की गला दबा कर हत्या कर दी। देर रात मायके वालों को मौत की सूचना मिली।


Input : Dainik Jagran.



Comment Box