सीतामढ़ी में एईएस का कहर जारी, फिर मिले छह मरीज

0

जिले में एईएस का कहर लगातार जारी है। बुधवार को एईएस के छह मामले सामने आए। इनमें परसौनी थाने के धोधनी निवासी इंदल साह के पुत्र गोलू कुमार (12), सोनबरसा प्रखंड के भुतही निवासी इमामुद्दीन के डेढ़ वर्षीय पुत्र आर्यन शेख, बाजपट्टी थाने के मधुरापुर निवासी विजय दास के पुत्र शिवांश (6) और सुरसंड प्रखंड के शंकरपुर निवासी इजहारूल हक के पुत्र गजहर अली (11) को सदर अस्पताल के एईएस वार्ड में भर्ती किया गया है।

जबकि, पुनौरा निवासी राजेश कुमार के डेढ़ वर्षीय पुत्र आर्यन का इलाज अस्पताल रोड स्थित डॉ. अमित वर्मा के आर्शीवाद नर्सिंग होम में जारी है। उधर, रून्नीसैदपुर पीएचसी से एईएस पीड़ित नानपुर थाना क्षेत्र के बहुरार गांव निवासी राजन मंडल की पुत्री रूचि कुमारी (2) को इलाज के लिए एसकेएमसीएच रेफर किया गया है। वर्तमान में सदर अस्पताल के एईएस वार्ड में छह और डॉ. अमित वर्मा के निजी नर्सिंग होम में दो समेत कुल आठ बच्चे का इलाज जारी है। इसके पूर्व सदर अस्पताल में सोमवार को भर्ती कराए गए एईएस पीड़ित नानपुर थाने के बेला निवासी इरशाद के पुत्र फरहान को मंगलवार को एसकेएमसीएच रेफर कर दिया गया था।


बताते चलें कि जिले में अब तक एईएस के 32 मामले सामने आए है। इनमें दो की एसकेएमसीएच में इलाज के दौरान मौत हो गई थी। एक अन्य बच्चे की आर्शीवाद नर्सिंग होम में इलाज के दौरान मौत हो गई थी। जबकि, सदर अस्पताल, रून्नीसैदपुर पीएचसी और डॉ. अमित वर्मा के क्लीनिक से एक-एक समेत कुल तीन मरीज को रेफर कर दिया गया। डॉ. अमित वर्मा के क्लीनिक से आठ, डॉ. एसके वर्मा के क्लीनिक से चार और सदर अस्पताल से 14 समेत 26 बच्चों को इलाज बाद मुक्त कर दिया गया है।

बताते चलें कि मंगलवार को सदर अस्पताल में एक भी रोगी नहीं आया था। सोमवार को बथनाहा प्रखंड के पुरनहिया निवासी राजेश मिश्रा के पुत्र गौरव कुमार (डेढ़ वर्ष), परिहार प्रखंड के खैरवा निवासी कंत लाल पासवान के पुत्र कुंदन कुमार (1) और नानपुर थाने के बेला निवासी इरशाद के पुत्र फरहान (5) को सदर अस्पताल के एईएस वार्ड में भर्ती कराया गया था। जबकि पूर्व से भर्ती राजोपट्टी मोहल्ला निवासी काशिम अंसारी की पुत्री समारा खातून (4) और पुनौरा निवासी राकेश राय की पुत्री काजल कुमार (8) का इलाज सदर अस्पताल के एईएस वार्ड में जारी है।


चिकित्सक डॉ. बासित अली, डॉ. हिमांशु शेखर, नर्स रंजू कुमारी, गोविद कुमार व एक्सपर्ट भगवान साह प्रजापति की टीम लगातार एईएस पीड़ित बच्चों के इलाज में जुटी है। सीएस डॉ. रवींद्र कुमार लगातार मॉनीटरिग कर रहे हैं। सदर अस्पताल में अब तक 18 बच्चों को भर्ती किया गया। इनमें 12 को इलाज बाद मुक्त कर दिया गया है।

Input : Dainik Jagran.



Comment Box