सिंहवाहिनी के वार्ड सदस्य ने केरोसिन तेल छिड़क किया सपरिवार आत्मदाह का प्रयास

0

घर में घुस कर वार्ड सदस्य और उनके परिजन की पिटाई के मामले में सोनबरसा प्रखंड की सिंहवाहिनी पंचायत की मुखिया की गिरफ्तारी नहीं होने से नाराज वार्ड सदस्य वीरेंद्र राम ने गुरुवार को समाहरणालय पहुंच कर सपरिवार आत्मदाह करने का प्रयास किया।

पिछले गेट से समाहरणालय में घुस कर वे पत्नी और बच्चों के शरीर पर केरोसिन तेल छिड़क ही रहे थे कि मौके पर मौजूद अधिकारियों ने उन्हें पकड़ लिया। इसके बाद समाहरणालय में अफरातफरी मच गई। मौके पर पहुंचे एसडीओ सदर मुकुल कुमार गुप्ता, एसडीपीओ डॉ. कुमार वीर धीरेंद्र और अधिकारियों की टीम ने वार्ड सदस्य और परिजनों को हिरासत में ले लिया।

डीएम के निर्देश पर अधिकारियों की टीम ने पीड़ितों का बयान दर्ज किया। एसपी अनिल कुमार के निर्देश पर पुलिस-प्रशासन की टीम ने बांड भरवा वार्ड सदस्य समेत परिजनों को मुक्त कर दिया। एसपी ने कहा कि मामला पुराना है जो कोर्ट में लंबित है। वार्ड सदस्य द्वारा मांगी गई सुरक्षा के आलोक में गांव में पुलिस बल तैनात करने का निर्देश दिया गया है।


इधर, मुखिया रितू जासवाल ने कहा है कि भ्रष्टाचार के खिलाफ आवाज उठाने पर उनके खिलाफ साजिश रची जा रही है। इसकी जानकारी सीएम को भी उन्होंने दे दी है। उन्होंने बताया कि एक महिला जनप्रतिनिधि को दबाने का प्रयास किया जा रहा है। यह एक साजिश है। कहा कि रवींद्र राम द्वारा दर्ज प्राथमिकी पुलिसिया जांच में झूठी निकली थी। उनके द्वारा दर्ज मामले में रवींद्र राम के खिलाफ वारंट जारी है। बावजूद इसके पुलिस उसे गिरफ्तार नहीं कर रही और आरोपित वार्ड सदस्य धरना दे रहा है।

बताते चलें कि जिले के सोनबरसा प्रखंड की सिंहवाहनी पंचायत के वार्ड सदस्य वीरेंद्र राम ने छह माह पूर्व पंचायत की मुखिया रितु जायसवाल और समर्थकों के खिलाफ घर में घुस कर मारपीट की प्राथमिकी दर्ज कराई थी।


हालांकि, सोनबरसा पुलिस की जांच में आरोप गलत पाया गया था। तब वार्ड सदस्य राम ने इसके खिलाफ अधिकारियों को आवेदन देकर इंसाफ की गुहार लगाई थी। बार-बार आवेदन के बावजूद प्रशासनिक स्तर पर जब कोई कार्रवाई नहीं हुई तो 10 जून को वीरेंद्र राम ने जिला मुख्यालय डुमरा स्थित आंबेडकर स्थल पर सपरिवार अनशन किया था। डीएम के निर्देश पर अधिकारियों की टीम ने अनशन समाप्त कराया था। डीएम ने मामले की जांच कराने का आश्वासन दिया था।

हालांकि, वीरेंद्र राम ने कहा था कि अगर 19 जून तक कार्रवाई नहीं हुई तो वे सपरिवार आत्मदाह कर लेंगे। इसी क्रम में गुरुवार को पत्नी व बच्चों के साथ पहुंचे वीरेंद्र राम ने समाहरणालय परिसर में आत्मदाह का प्रयास किया।

Sources : Dainik Jagran.



Comment Box