सवर्ण समाजसंघर्ष समिति का राष्ट्रीय सवर्ण से गठबंधन | सीतामढ़ी लाइव

0
बैठक में उपस्थित लोग

सवर्ण समाज संघर्ष समिति सीतामढ़ी का राष्ट्रीय सवर्ण महागठबंधन से हुआ. इस मौके पर विशिष्ट अतिथि के रूप में महागठबंधन प्रमुख बाल्मीकि कुमार सिंह, प्रमोद कुमार सिंह, मिथिलेश पांडे जहानाबाद और नवादा से चलकर सवर्णो की आवाज को बुलंद करने सीतामढ़ी पहुंचे। वहीं सीतामढ़ी सवर्ण समाज संघर्ष समिति के अध्यक्ष रामनिवास मिश्रा, उपाध्यक्ष रमेश सिंह, तकनीकी सेल के प्रमुख दिवाकर नारायण सिंह, नवीन भारद्वाज, सचिव अनिल कुमार, संगठन सचिव नेहाल खान, महासचिव शैलेन्द्र कुमार अधिवक्ता, SC/ST एक्ट के अधिवक्ता पंकज कुमार, आफताब अंजुम बिहारी, संजीव कुमार, चंदन कुमार मिश्रा, ब्रजेश कुमार, संजय कुमार, चमन कुमार, शिव पूजन सिंह, उत्पल कुमार, नवीन चौबे, विनीत कुमार सहित सैकड़ों लोग सवर्णो की आवाज को देश स्तर पर उठाने के लिए सवर्ण महागठबंधन का हिस्सा बने. मौके पर बाल्मीकि कुमार ने स्पष्ट शब्दों में कहा कि ये 10% आरक्षण चुनावी लॉलीपॉप है, इसे सवर्णो को समझने की जरूरत है. प्रमोद कुमार ने कहा कि सरकार ये एससी/एसटी एक्ट काला कानून जब तक वापस नहीं लेगी तब तक हमारी लड़ाई जारी रहेगी चाहे सरकार किसी की भी हो. रामनिवास मिश्रा ने कहा कि हमारी संगठन अब राष्ट्रीय सवर्ण महागठबंधन से जुड़ चुकी है जो एक राष्ट्रीय संगठन है, इस से जुड़ कर हम अपनी आवाज को और बुलंदी के साथ उठा सकेंगे. हमारे संगठन में कुल आठ सवर्ण जातियाँ है, भूमिहार, ब्राह्मण, राजपूत, कायस्थ, शेख, शैयद, मुगल और पठान है. हम सभी को एक होकर अपनी मांग के लिए सरकार से लड़ना होगा. वहीं दिवाकर नारायण सिंह ने कहा कि आरक्षण तो आर्थिक आधार पर होना चाहिए, जब आठ लाख की सालाना आमदनी वाले को सरकार गरीब मानती है तो ऐसे सवर्णो की संख्या तो बहुत ज्यादा है. ऐसे में 10% आरक्षण तो आपस मे लड़ाने वाली बात हुई.

© Sitamarhi LIVE | TEAM



Comment Box