व्यवसायी हत्याकांड मामले में एसपी, डीएसपी को हटाने की मुख्यमंत्री से की मांग : सांसद

0
23

बुधवार को हुए सीतामढ़ी शहर में दिनदहाड़े व्यवसाई प्रभास हिसारिया की हत्या मामले पर जनप्रतिनिधियों के बयान भी सामने आ रहे हैं. सभी ने एक सुर में इस हत्याकांड की निंदा की है एवं पुलिस को नाकामयाब बताया है. व्यवसाई की मौत के बाद अस्पताल परिसर में मौके पर पहुंचे सीतामढ़ी के सांसद ने “एसपी साहब” को भी खरी-खरी सुनाई.

अस्पताल में सांसद ने कहा कि लॉक डाउन में अगर साफ-सफाई सफाई व देखरेख के लिए कपड़ा दुकान खुल जाती है तो ताला मारने के लिए डीएसपी पहुंचाते हैं. लॉक डाउन में ही हत्या हुई है इसे रोकने के लिए पुलिस क्यों नहीं आई ? सांसद सुनील कुमार पिंटू ने एसपी से कहा कि परिजन व व्यवसायियों का आक्रोश जायज है. एसपी साहब, आपकी टीम क्या कर रही है ? टाइगर मोबाइल, पैंथर मोबाइल नाम के लिए है. यह सिर्फ दुकानें बंद कराने पहुंचती है. सांसद ने कहा कि लॉक डाउन हो या फिर अपराध पर अंकुश लगाना, इसकी जिम्मेवारी आपको और आपकी टीम को उठानी पड़ेगी.


इसके बाद बुधवार की देर रात सांसद ने अपने फेसबुक अकाउंट पर पोस्ट करते हुए लिखा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से वार्ता कर जिले में पुलिस का खौफ कायम करने के लिए एसपी व डीएसपी सहित पूरी टीम को हटाने की मांग की है. सांसद ने कहा कि लॉक डाउन के पीरियड में दिनदहाड़े हुई हत्या पुलिस की निष्क्रियता को उजागर करता है. अपराधियों पर पुलिस कप्तान का डर और खौफ नहीं है. यह बहुत दुखद है. अविलंब हत्यारों की गिरफ्तारी की जाए और उन्हें कानून संगत सजा दिलाई जाए.

आपको बता दें कि बुधवार को सीतामढ़ी शहर के प्रसिद्ध साइकिल व्यवसाय प्रभास हिसारिया की स्कूटी सवार तीन बदमाशों ने गोली मारकर हत्या कर दी थी. इस घटना की पूरी वारदात सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई. इस घटना के बाद से व्यवसायियों में गहरा आक्रोश है. उन्होंने अस्पताल परिसर में बुधवार को एसपी को भी घंटों घेरा रहा और देर रात बिहार के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडे इसकी जांच करने खुद सीतामढ़ी पहुंच गए. डीजीपी ने पीड़ित परिवार को न्याय का भरोसा दिलाया है और सीतामढ़ी से अपराध खत्म करने की बात कही है.

इस संबंध में डीजीपी गुप्तेश्वर पांडे ने क्या कुछ कहा, देखिए :

Report : Rahul Lath | Team.



Comment Box