मेरे कार्यकाल में रेलवे ओवरब्रिज नहीं बना तो जनता को मुंह दिखाने लायक नहीं रहूंगा : मिथिलेश

0
220

बीते एक दशक के सीतामढ़ी की सबसे बड़ी समस्याओं में से एक रेलवे ओवर ब्रिज के निर्माण को लेकर लगातार प्रयास किए जा रहे हैं. पूर्व विधायक, मंत्री से लेकर वर्तमान विधायक एवं मंत्री भी प्रयासरत है.

सोमवार को सीतामढ़ी के डुमरा स्थित विधान पार्षद देवेश चरण ठाकुर के आवास पर आयोजित प्रेस कांफ्रेंस के दौरान पत्रकारों ने जब सीतामढ़ी नगर के विधायक मिथिलेश प्रसाद से रेलवे ओवरब्रिज के निर्माण पर सवाल पूछा तो उन्होंने कहा कि वह पूरी तरह प्रयासरत है.


विधायक ने कहा कि उन्होंने जनता से वादा किया था कि उनकी प्राथमिकता में रेलवे ओवरब्रिज का निर्माण होगा. जनता ने उन्हें जिताया है तो ऐसे में वह इसके निर्माण में पूरी तरह प्रयासरत है. उन्होंने इतना तक कह डाला कि यदि उनके कार्यकाल में रेलवे ओवरब्रिज का निर्माण नहीं होता है तो वह जनता को मुंह दिखाने लायक नहीं रहेंगे.

गौरतलब हो कि सीतामढ़ी नगर विधायक कुछ दिनों पूर्व पथ निर्माण मंत्री मंगल पांडे से मिले थे. उन्होंने रेलवे ओवरब्रिज को लेकर एक ज्ञापन भी सौंपा था. इसके अलावा विधायक ने बताया कि मैं मुख्यमंत्री और प्रधानमंत्री से मिलकर सीतामढ़ी के विकास की मांग करेंगे.

आपको बता दें कि सीतामढ़ी रेलवे स्टेशन पूर्वी गुमटी पर बनने वाले रेलवे ओवरब्रिज के निर्माण नहीं होने से रोजाना लाखों लोगों को परेशानी होती है. रेलवे गुमटी पर रोजाना घंटों जाम लग रहा है.

वर्ष 2008 में रेलवे ओवरब्रिज को लेकर स्वीकृति मिली थी इसका निर्माण रेलवे एवं पथ निर्माण विभाग को मिलकर करना था. रेलवे और पथ निर्माण विभाग के बीच समन्वय नहीं होने के कारण आज तक इसका काम अधर में है.

रेलवे के द्वारा ओवरब्रिज का पिलर खड़ा कर काम पूरा करने की बात कही जा रही है जबकि एप्रोच पथ को लेकर बिहार सरकार के पुल निगम द्वारा कोई कार्य नहीं हुआ है. इस अधूरे काम से लोगों में कई वर्षों से आक्रोश व्याप्त है, बावजूद इसके सरकार नींद में सोई है.

© SITAMARHI LIVE | TEAM.



Comment Box