भाजपा नेता की हत्या के लिए दी गई थी 60 लाख रुपये की सुपारी

0
23

। भाजपा नेता मनीष शुक्ला की हत्या के लिए 60 लाख रुपये की सुपारी दी गई थी। हत्याकांड की सीआइडी जांच में यह तथ्य सामने आया है। यह धनराशि एक प्रभावशाली व्यक्ति ने पूरी तरह नकद में दी थी। हत्याकांड के आरोपितों से पूछताछ में सीआइडी को कई महत्वपूर्ण सुराग हाथ लगे हैं।

पता चला है कि एक प्रभावशाली व्यक्ति ने मनीष शुक्ला की हत्या के लिए कुख्यात शार्प शूटर नासिर को सुपारी दी थी। उक्त प्रभावशाली व्यक्ति का नासिर से पहले से ही परिचय है। नासिर ने उससे नकद तौर पर मिले रुपये बिहार ले जाकर कुख्यात माफिया सुबोध सिंह के हवाले कर दिया था। सीआइडी का दावा है कि नासिर ने ही मनीष शुक्ला की गोली मारकर हत्या की थी।


सुबोध सिंह इस समय पटना की एक जेल में बंद है। नासिर ने उससे जेल जाकर ही मुलाकात की थी। नासिर उसकी गैंग का ही सदस्य बताया जा रहा है। मनीष शुक्ला की हत्या में नासिर ने मिडिल मैन की भूमिका निभाई थी। सीआइडी को जांच में पता चला है कि मनीष शुक्ला हत्याकांड में एक और आरोपित सुबोध राय के भैया के बैंक खाते में एक लाख 30 हजार रुपये जमा पड़े थे।

बिहार के एक बैंक खाते से वे रुपये भेजे गए थे। उन रुपये को सुबोध सिंह ने ही अपने एक परिचित के माध्यम से भिजवाया था। परिचित ने सुबोध सिंह से रुपये लेकर अपने बैंक खाते से टीटागढ़ के रहने वाले सुबोध राय के भैया के बैंक खाते में डाले थे।

सीआइडी सुबोध राय के भैया से एक दफा पूछताछ कर चुकी है। उसके बैंक खाते की भी जांच की जा चुकी है। दूसरी तरफ सुबोध राय के भैया का कहना है कि वे रुपये उसे भैसों की बिक्री से मिले थे। सीआइडी का कहना है कि मनीष शुक्ला की हत्या के लिए बिहार से छह शार्प शूटर बंगाल आए थे। उनके आने-जाने, ठहरने व खाने-पीने के खर्च बाबत ही सुबोध सिंह ने रुपये भिजवाए थे। 



Comment Box