बिहार बोर्ड इंटर कम्पार्टमेंट – स्पेशल एग्जाम को लेकर हुए ये अहम फैसले

0

बिहार विद्यालय परीक्षा समिति (बिहार बोर्ड) इंटरमीडिएट कम्पार्टमेंटल-सह-विशेष परीक्षा, 2019 का आयोजन पूरी सख्ती के साथ आयोजित करेगा। शुक्रवार को बिहार बोर्ड अध्यक्ष आनंद किशोर की अध्यक्षता में सभी जिलों के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग का आयोजन किया गया। बैठक में उत्तरपुस्तिकाओं की बारकोडिंग एवं इन उत्तरपुस्तिकाओं के मूल्यांकन के संबंध में कई अहम फैसले लिए गए।


इंटरमीडिएट कम्पार्टमेंटल-सह-विशेष परीक्षा, 2019 में कुल 92,120 विद्याथिर्यों (कम्पार्टमेंटल के लिए कुल 86,138 विद्यार्थी तथा विशेष परीक्षा के लिए कुल 5,982 विद्यार्थियों ने) ने परीक्षा फॉर्म भरा है, जिनके लिए पूरे राज्य में कुल 86 परीक्षा केन्द्र बनाये गये हैं।



बारकोडिंग का कार्य 10 मई से

परीक्षा में उपयोग किये गये उत्तरपुस्तिकाओं की बारकोडिंग का कार्य दिनांक 10 मई, 2019 एवं 11 मई, 2019 को किया जायेगा। दिनांक 12 मई, 2019 को 6 लोक सभा क्षेत्रों यथा-सीवान, गोपालगंज, छपरा, मोतिहारी, बेतिया एवं वैशाली में चुनाव के कारण इन जिलों में इंटरमीडिएट की उत्तरपुस्तिकाओं के बारकोडिंग का कार्य दिनांक 14.05.2019 एवं 15.05.2019 को किया जायेगा।



इसी क्रम में अध्यक्ष द्वारा सभी चीफ सेक्रेसी ऑफिसर को निदेश दिया गया कि चूंकि बारकोडिंग का कार्य मात्र 2 दिनों में करना है, ऐसे में उत्तरपुस्तिकाओं के संख्या के अनुपात में बारकोडिंग कर्मियों की व्यवस्था भी अविलंब कर ली जाय।

मूल्यांकन 16 मई से 19 मई के बीच

इस परीक्षा की उत्तरपुस्तिकाओं का मूल्यांकन 16 मई से 19 मई, 2019 के बीच कुल 20 जिलों में बनाये गये मूल्यांकन केन्द्रों पर किया जायेगा। इस संबंध में अध्यक्ष द्वारा संबंधित जिला शिक्षा पदाधिकारी को निदेश दिया गया कि प्रत्येक मूल्यांकन केन्द्र पर 2-2 कम्प्यूटर की व्यवस्था तथा उसके लिए प्रति मूल्यांकन केन्द्र 04 कम्प्यूटर जानकार शिक्षक/कर्मी प्रतिनियुक्ति कर ली जाय।


लिए गए ये 7 अहम फैसले

1. निदेश दिया गया कि प्रथम पाली के परीक्षार्थी को परीक्षा प्रारम्भ होने के समय (पूर्वाह्न 09:30 बजे) से 10 मिनट पूर्व अर्थात् पूर्वाह्न 09:20 बजे तक तथा द्वितीय पाली के परीक्षार्थी को द्वितीय पाली के परीक्षा प्रारम्भ होने के समय (अपराह्न 01:45 बजे) से 10 मिनट पूर्व अर्थात् अपराह्न 01:35 बजे तक ही परीक्षा भवन में प्रवेश की अनुमति दी जाए। इसके बाद देरी से आने वाले परीक्षार्थी को परीक्षा भवन में प्रवेश की अनुमति नहीं दी जाए।

2. निदेश दिया गया कि विद्याथियों को परीक्षा भवन में जूता-मोजा पहनकर परीक्षा भवन में प्रवेश की अनुमति नहीं दी जाए और इसका दृढ़ता से अनुपालन सुनिश्चित किया जाए।

3. परीक्षार्थी परीक्षा भवन में प्रवेश पत्र एवं पेन के अलावा कुछ भी नहीं ले जायेंगे।

4. परीक्षा केन्द्र के अंदर उस केन्द्र के केंद्राधीक्षक को छोड़कर अन्य प्रतिनियुक्त कर्मी/पदाधिकारी मोबाईल फोन नहीं ले जायेंगे।

5. सभी परीक्षा केन्द्रों पर आवश्यकतानुसार सीसीटीवी कैमरों का अधिष्ठापन किया जाए तथा विडियोग्राफी की व्यवस्था की जाए।

6. परीक्षा केन्द्रों पर विद्यार्थियों की 2 स्तर पर फ्रिस्किंग की व्यवस्था की जाए। प्रथम परीक्षा केन्द्र पर प्रवेश करते समय तथा दूसरा जब परीक्षार्थी अपने आवंटित कमरे में परीक्षा देंगे।

7. इस प्रकार अध्यक्ष द्वारा निदेश दिया गया कि इस परीक्षा का संचालन पूरी कड़ाई के साथ किया जाए

Sources : Hindustan.




Comment Box