बिना लिखित अनुमति के मुख्यालय नहीं छोड़ेंगे अधिकारी : डीएम

0

डीएम डॉ. रणजीत कुमार सिंह ने जिले के सभी बीडीओ-सीओ के मुख्यालय छोड़ने पर पाबंदी लगा दी है. अब डीएम से लिखित अनुमति मिलने के बाद ही कोई भी बीडीओ और सीओ मुख्यालय छोड़ सकेंगे.

डीएम डॉ. रणजीत कुमार सिंह ने समाहरणालय में आयोजित बैठक के दौरान यह आदेश दिया. डीएम ने सभी बीडीओ के साथ आयोजित बैठक में नल जल योजना की समीक्षा की। डीएम ने कनीय अभियंता को अनिवार्य रूप से सप्ताह में दो दिन संबंधित बीडीओ के साथ बैठक करने का आदेश दिया। वहीं सभी बीडीओ ओडीएफ की तरह प्रतिदिन चल रहे कार्यो का क्षेत्र में जाकर अवलोकन करने का आदेश दिया।

डीएम ने कार्य की गुणवत्ता को सर्वोच्च प्राथमिकता देने का निर्देश दिया। ने सभी बीडीओ को अवैध क्लीनिक के खिलाफ लगातार अभियान चलाने, वैसे क्लीनिक जो सील किए गए है, उनकी लगातार निगरानी करने का आदेश दिया। डीएम ने सभी बीडीओ को कार्यालय की कार्य संस्कृति में सुधार लाने का निर्देश देते दिया। प्रखंड कार्यालय को साफ रखने, कार्यालय में ,बैठने की व्यवस्था, पेयजल और महिला-पुरुष के लिए अलग-अलग यूरिनल तथा शौचालय की व्यवस्था कराने का आदेश दिया।


डीएम ने बरसात के मद्देनजर प्रखंड कार्यालय परिसर में पौधा लगवाने का भी निर्देश दिया। डीएम ने बेहतर काम करने वाले पदाधिकारी को पुरस्कृत करने की बात कही। डीएम ने सभी बीडीओ को नियमित रूप से वाहन जांच और अतिक्रमण के खिलाफ अभियान चलाने का निर्देश दिया। सड़क पर मवेशी बांधने वाले और बालू,गिट्टी गिराने वालों पर कड़ी कार्रवाई का आदेश दिया। प्रधानमंत्री आवास योजना में मेजरगंज और परिहार के निम्न प्रदर्शन पर डीएम ने गहरी नाराजगी व्यक्त की। वहीं कहा कि अब आम-जन से जुड़े कार्यो में थोड़ी सी भी लापरवाही बर्दाश्त नही की जाएगी।

डीएम ने कहा कि बैरगनिया, रुन्नीसैदपुर, नानपुर और डुमरा में एईएस को लेकर यूनिसेफ के चार अधिकारी चारो प्रखंडों में भ्रमण कर गहन अवलोकन करेगें। इसमें सभी बीडीओ पूरा सहयोग प्रदान करेंगे.


Team.



Comment Box