फौजी का शव घर पहुंचते ही परिजनों में मचा कोहराम

0

रीगा थाना क्षेत्र के रामनगर वार्ड नंबर-2 निवासी 54 वर्षीय फौजी भोला महतो की मौत ड्यूटी के दौरान हृदय गति रुक जाने से शनिवार की रोज हो गया. मृतक भोला महतो नागालैंड के जोनोवोटा मे आसाम राइफल में कार्यरत थे. मृतक का शव वारंट ऑफिसर विनोद कुमार झा, नायक सूबेदार कृपाल सिंह अपने साथ लेकर 2 दिन बाद मृतक के पैतृक गांव पहुंचे. नम आंखों से झा ने बताया कि मृतक जवान कंपनी में चर्चित थे. हंसमुख एवं मिलनसार व्यक्तित्व के लोग थे तथा बड़े कर्तव्यनिष्ठ थे.
शव को देखते ही परिजन में कोहराम मच गया. गांव से सैकड़ों की संख्या में भीड़ शव को देखने के लिए निवास स्थान पर उमड़ पड़ा. सबकी आंखें नम हो चुकी थी. मृतक की पत्नी अनीता देवी व 14 वर्षीय पुत्र हर्ष कुमार समेत अन्य का रो-रोकर बुरा हाल था. मृतक चार भाई में सबसे छोटा था. बड़ा भाई भिखारी महतो, कामेश्वर महतो, महेंद्र महतो गांव में ही कृषि कार्य में लगे रहते हैं.
पुत्र हर्ष कुमार ने बताया कि हमें क्या मालूम था कि हमारे पिताजी का शव हमारे घर आएगा. कुछ ही दिन बाद छुट्टी पर घर आने वाले थे. पिछले सप्ताह पिताजी से तकरीबन 15 मिनट तक फोन पर हमारी बातचीत भी हुई थी.

घटना की सूचना के बाद स्थानीय विधायक अमित कुमार टुन्ना इस दुख की घड़ी में मृतक के घर पहुंचकर पत्नी अनीता देवी व पुत्र हर्ष कुमार समेत अन्य लोगों को सांत्वना दिया. उन्होंने बताया कि इस दुख की घड़ी में हम आप लोगों के साथ हैं.


वहीं पंचायत के मुखिया पति बिंदेश्वर पासवान व द्वितीय पंचायत के मुखिया पति रामवृक्ष मंडल, सामाजिक कार्यकर्ता विनोद राय पटेल समेत कई अन्य गणमान्य लोग भी मृतक के घर पहुंचकर श्रद्धांजलि दिया. लोगों को ढांढस बंधाया. आसाम राइफल के उनके साथियों द्वारा वहां गमगीन माहौल में तिरंगे में लिपटे जवान के शव को अंतिम सलामी दी. मुखाग्नि मृतक का पुत्र हर्ष ने दिया.



Comment Box