प्रिंटिंग प्रेस के संचालक सतीश सिंह हत्याकांड में चार को हिरासत में लिया गया

0

प्रिटिग प्रेस संचालक शशि सिंह हत्याकांड में पुलिस ने मुख्य आरोपित अमित कुमार समेत चार को हिरासत में लिया है जिनसे पूछताछ जारी है।

घटना के बाबत मृतक के पिता राम विनय सिंह के आवेदन पर डुमरा थाने में हत्या की प्राथमिकी दर्ज की गई है। प्राथमिकी में रामपुर परोड़ी निवासी अमित कुमार समेत चार को आरोपित किया गया है। घटना का कारण रुपयों का विवाद बताया गया है। दर्ज प्राथमिकी के अनुसार अमित कुमार ने शशि सिंह से बतौर कर्ज डेढ़ लाख रुपये लिया था। शशि सिंह द्वारा रुपये वापिस करने का दबाव बनाया जा रहा था। गुरुवार को शशि सिंह ने रुपये देने के लिए अमित कुमार को कॉल किया था। अमित ने मुरादपुर में आकर रुपये लेने की बात कही थी। शशि सिंह बाइक से रुपये लेने मुरादपुर पहुंचा। जहां पहले से घात लगाए अपराधियों ने उसे गोली से भून दिया। इलाज के दौरान शहर के एक निजी क्लीनिक में उसकी मौत हो गई।


इधर, पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते हुए अलग-अलग इलाकों में छापेमारी कर मुख्य आरोपित रामपुर परोड़ी निवासी अमित कुमार, शहर से सटे शांतिनगर निवासी अभिनव राज, भीसा निवासी पंकज कुमार और मुजफ्फरपुर निवासी सोमू कुमार को हिरासत में लिया है। जिनसे सघन पूछताछ जारी है। बताते चलें कि सीतामढ़ी-मुजफ्फरपुर हाईवे पर डुमरा थाना क्षेत्र अंतर्गत मुरादपुर गांव के पास गुरुवार की शाम अपराधियों ने गोली मार कर शहर के बरियारपुर में शशि प्रिटिग प्रेस चलाने वाले बथनाहा थाना क्षेत्र के चकवा गांव निवासी राम विनय सिंह के पुत्र शशि सिंह (40) की हत्या कर दी थी। बदमाशों ने रुपये लेने के लिए उन्हें बुलाकर गोली मार दी। घटना के बाद शशि को सड़क के किनारे फेंक अपराधी फरार हो गए थे।

इसी बीच मौके से गुजर रहे पप्पू शर्मा नामक एक टेंपो चालक ने डुमरा थाना को घटना की जानकारी दी थी। साथ ही टेंपो में लाद कर जख्मी को इलाज के लिए सदर अस्पताल पहुंचाया था। जहां से चिकित्सक ने उसे रेफर कर दिया। परिजनों द्वारा उन्हें शहर स्थित एक निजी क्लीनिक ले जाया गया था। जहां इलाज के दौरान मौत हो गई थी। डुमरा थानाध्यक्ष नवलेश कुमार आजाद के नेतृत्व में पुलिस की टीम ने अपराधियों की तलाश में हाईवे की नाकेबंदी कर सर्च ऑपरेशन चलाया था।


Input : Dainik Jagran .



Comment Box