पुलिस की पिटाई से हाजत में दो आरोपितों की मौत | सीतामढ़ी लाइव

0
31
SP Office Sitamarhi

पुलिस की पिटाई से लूट व हत्याकांड के दो आरोपियों की मौत बुधवार को हो गई. इनकी पहचान पूर्वी चंपारण जिले के चकिया थाने के रमडीहा निवासी गुफरान और तस्लीम आलम के रूप में हुई है.

हत्या व बाइक लूट का आरोप:-

20 फरवरी को सीतामढ़ी मुजफ्फरपुर हाईवे पर उपद्रव ने लूट के दौरान मुजफ्फरपुर के औराई थाना क्षेत्र के जीवाजोर गांव निवासी सत्यनारायण साह के पुत्र राकेश कुमार की गोली मारकर हत्या कर बाइक लूट ली थी. मामले में मंगलवार को क्विक रिस्पांस टीम ने चकिया पुलिस के सहयोग से गुफरान और तस्लीम को गिरफ्तार किया था. तस्लीम के पास से पिस्टल भी बरामद की गई थी. पूछताछ के लिए उसे सीतामढ़ी जिले के डुमरा थाने में रखा गया था.


कैसे हुई मौत ? :-

हाजत में बंद दोनों आरोपी रात को हाजत खोल कर फरार हो गए. भागने के दौरान डुमरा थाना के जवानों ने उन्हें दबोच लिया. इसके बाद बेरहमी से पुलिस द्वारा पिटाई की गई. स्थिति बिगड़ने पर बुधवार की शाम सदर अस्पताल में दोनों को भर्ती कराया गया जिसके तकरीबन 1 घंटे बाद दोनों की मौत हो गई. इसकी सूचना पर एसडीपीओ सदर डॉ कुमार वीर धीरेंद्र समेत कई अधिकारी सदर अस्पताल पहुंचे. दंडाधिकारी की मौजूदगी में शवों का पोस्टमार्टम कराया गया. प्रथम दृष्टया देखने पर शवों पर करंट लगने जैसे निशान पाए गए हैं. हालांकि पोस्टमार्टम रिपोर्ट आना अभी बाकी है.

क्या बोले अधिकारी :-

इस गंभीर मामले पर सदर एसडीपीओ डॉ कुमार वीर धीरेंद्र ने पुलिस की पिटाई से मौत की बात को खारिज कर दिया है. उन्होंने कहा कि दोनों से हाजत में मिलने कई लोग आए थे. किसी मुलाकाती द्वारा कुछ खिला दिया गया होगा. बताया गया कि मामला संदेहास्पद है पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद आगे की कार्रवाई होगी.

— डॉ कुमार वीर धीरेंद्र, सदर एसडीपीओ

इधर जोनल आईजी ने मामले को गंभीरता से लेते हुए डीआईजी को सीतामढ़ी कैंप करने भेजा है. तत्काल सीतामढ़ी के पुलिस अधीक्षक अमरकेश डी ने कार्रवाई करते हुए डुमरा थाना अध्यक्ष चंद्र भूषण कुमार सिंह समेत आठ पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया है.

Sitamarhi LIVE | Team



Comment Box