पटना की दिव्या सिंह सीतामढ़ी में बच्चों को शिक्षा के प्रति कर रही जागरूक

0

मूल रूप से पटना की बोरिंग रोड स्थित राजापुर की रहने वाली दिव्या सिंह सीतामढ़ी में पीरामल फाउंडेशन में डिस्ट्रिक्ट कोऑर्डिनेटर के पद पर हैं. दिव्या सिंह फिलहाल सीतामढ़ी में प्राथमिक शिक्षा को लेकर काफी चिंतित हैं और वह लगातार इस पर काम कर रही हैं.

वर्ष 2018 के जून महीने से उन्होंने पीरामल फाउंडेशन में डिस्ट्रिक्ट कोऑर्डिनेटर के रूप में शुरुआत की है. सीतामढ़ी जिले में जून 2018 से अब तक उन्होंने प्राथमिक शिक्षा को बेहतर बनाने की दिशा में कई प्रयास किए हैं. दिव्या सिंह ने बताया कि विद्यालयों में आने वाली समस्या, स्कूली छात्रों से बातचीत कर उनकी परेशानी को जानना, शिक्षकों की समस्याओं को समझ कर शिक्षा विभाग के अधिकारियों को अवगत कराया जाता है. इसके बाद उन समस्या का समाधान ढूंढा जाता है और एक प्लान बना कर उसे लागू किया जाता है.


जून 2018 में सीतामढ़ी आने के बाद जिला मुख्यालय स्थित बड़ी बाजार के पास बुनियादी स्कूल से होकर दिव्या सिंह गुजर रही थी. उन्होंने देखा कि बच्चे इधर उधर खेल रहे हैं और शिक्षक आराम फरमा रहे हैं. उन्होंने इसको ठीक करने की जिम्मेदारी ली और पहुंच गई शिक्षा पदाधिकारी के पास, शिक्षा पदाधिकारी से बात करने के बाद उन्होंने सितंबर 2018 से उस स्कूल में बतौर टीचर पढ़ाना शुरू कर दिया. सीतामढ़ी लाइव एडिटर राहुल कुमार से बातचीत के दौरान उन्होंने बताया कि उस वक्त स्कूल में कुल 92 बच्चे थे जिसको उन्होंने पढ़ाया. वह अभी भी अपने काम में व्यस्त होने के बावजूद समय निकालकर उसे स्कूल में बच्चों को पढ़ाने जाती हैं.


दिव्या सिंह आगे चलकर अपना एक अलग एनजीओ खोलना चाहती हैं. उन्होंने आगे समाज सुधार की दिशा में काम करने की इच्छा जताई है. शैक्षणिक स्तर के साथ ख़ासकर महिलाओं में शिक्षा को लेकर जागरूकता व अन्य कई सामाजिक समस्याओं को ठीक करने की बात कही है.


कौन है दिव्या सिंह

दिव्या सिंह का जन्म पटना में हुआ है और उन्होंने दसवीं तक सीबीएसई बोर्ड व 12वीं की परीक्षा बिहार बोर्ड से पास की है. स्नातक की पढ़ाई उन्होंने राजनीति विज्ञान से एवं एमफिल उन्होंने महात्मा गांधी के ऊपर सूरत के एक यूनिवर्सिटी से किया है. दिव्या सिंह को AINA नाम की एक संस्था द्वारा मई 2019 में राष्ट्रीय अवार्ड दिया गया है. महिला दिवस के अवसर पर जिला प्रशासन की ओर से सम्मानित किया जा चुका है. इसके साथ ही उन्हें किड्जी में बेस्ट टीचर का अवॉर्ड भी मिला है.


Report : Rahul Kumar Lath.

© Sitamarhi LIVE | Team.




Comment Box