देर रात पटना के एनएमसीएच में हुआ हंगामा, परिजनों ने नर्स को चप्पल से पीटा, नर्सों ने ड्यूटी छोड़ी

0
16

पटना के कोरोना डेडिकेटेड अस्पताल एनएमसीएच में बुधवार की देर रात मरीजों के परिजनों एवं हॉस्पिटल की नर्स के बीच मारपीट का मामला सामने आया है. नाराज नर्सों ने काम का बहिष्कार कर दिया है. इस मामले पर नरम और पटना के प्रत्यक्षदर्शियों का अलग- अलग बयान है.

जानकारी के मुताबिक घटना के बाद मरीज और उसके परिजन अस्पताल से फरार हो गए. नर्सों का कहना है कि अस्पताल की इमरजेंसी में बुधवार की रात बाढ़ इलाके से आए एक मरीज के परिजनों ने ऑन ड्यूटी नर्स को चप्पल से मारा. मरीज के परिजन इतने उत्तेजित थे कि नर्सों को बाथरूम में छिपकर अपनी जान बचानी पड़ी.


घटना की खबर मिलने के बाद एनएमसीएच की सभी नर्सों ने कार्य बहिष्कार कर दिया है. नाराज नर्सों ने वार्ड में भर्ती मरीजों की देखभाल छोड़ अस्पताल के पेइंग वार्ड में इकट्ठा हो गई. उन्होंने हंगामा करते हुए काम नहीं करने का ऐलान कर दिया. हंगामा कर रही नर्स अस्पताल के अधीक्षक समेत बड़े अधिकारियों को बुलाने की मांग कर रही थी.

घटना के बाद विरोध जता रही नर्सों ने बताया कि पटना के बाढ़ से अस्पताल के इमरजेंसी में लाए गए मरीज और उसके परिजनों ने मास्क नहीं पाया था. ऑन ड्यूटी नर्स में जब उन्हें मास्क पहनने के लिए बोला, इसके बाद उन्होंने नर्स पर हमला कर दिया. इस दौरान मरीज के परिजन ने नर्स को चप्पल से मारा. नर्सों की नाराजगी के बाद मरीज और उसके परिजन फरार हो गए.

उधर घटना के एक प्रत्यक्षदर्शी ने बताया कि बाहर से आए मरीज को इमरजेंसी वार्ड में बिना इलाज के छोड़ दिया गया था. वहां कोई डॉक्टर भी नहीं था और नर्स कुछ करने को तैयार नहीं थी. इससे नाराज होकर ही परिजनों ने हंगामा शुरू कर दिया.

उधर, एनएमसीएच के अधीक्षक डॉ. विनोद कुमार सिन्हा ने बताया कि नर्सों के साथ हुआ वाकया बेहद गलत है. उन्हें नर्सों के कार्य बहिष्कार किए जाने की खबर मिली है. मरीज और उसके परिजनों ने नर्स के साथ मारपीट और गलत व्यवहार किया है. यह बेहद दुखद घटना है और अस्पताल प्रशासन सभी कर्मियों और डॉक्टरों की सुरक्षा सुनिश्चित करेगा.

Input : First Bihar.



Comment Box