डीएम ने लाभुकों को दी पेंशन योजना की जानकारी | सीतामढ़ी लाइव

0

डुमरा स्थित इंडोर स्टेडियम सभागार में मंगलवार को डीएम डॉ. रणजीत कुमार सिंह ने प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन योजना का शुभारंभ दीप जलाकर किया।

उन्होंने कहा कि असंगठित क्षेत्र के कामगार जिनकी मासिक आय 15 हजार रुपये से कम है जैसे घरेलू नौकर, रिक्शा चालक, ड्राइवर, पलम्बर, लेवर, दर्जी, ठेला वाला इत्यादि इसके पात्र हो सकते हंै। उनकी उम्र सीमा 18 से 40 वर्ष होनी चाहिए। 60 वर्ष की उम्र होने पर असंगठित क्षेत्र के मजदूरों को 3000 रूपयें प्रति माह पेंशन दी जाएगी। इसके लिए उन्हें मात्र 55 रुपये से 200 रुपये मासिक भुगतान करना होगा और इतनी ही राशि भारत सरकार के द्वारा वहन की जाएगी। पेंशन धारक की मृत्यु हो जाने पर पति या पत्नी को पेंशन का लाभ देय होगा। इसके लिए जरूरी दस्तावेज-आधार कार्ड, बैंक पासबुक एवं दो फोटो, राशन कार्ड या आय प्रमाण पत्र लेकर अपने नजदीकी वसुधा केंद्र से संपर्क कर सकते हैं। इस दौरान प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के संबोधन का लाइव प्रसारण भी किया गया।


डीएम ने मुख्यमंत्री वृद्वजन पेंशन योजना के बारे में भी विस्तार से बताया। बताया गया कि जिनकी आयु न्यूनतम 60 वर्ष है और वे केंद्र या राज्य सरकार से कोई वेतन, पेंशन, परिवारिक पेंशन या समाजिक सुरक्षा पेंशन प्राप्त नहीं कर रहें है उनकी आयु 60 से 79 वर्ष के है उन्हें 400 रूपये एवं 80 वर्ष या उससे अधिक आयु वर्ग के है तो उन्हें 500 रूपयें मासिक पेंशन देय होगा। इस पेंशन का आवेदन सभी प्रखंडों के आरटीपीएस काउंटर पर अगामी एक मार्च से लिये जाएंगे। बताया गया कि एक अप्रैल से यह पेंशन लागू की जाएगी लेकिन, लाभार्थियों को पेंशन की राशि लोकसभा निर्वाचन 2019 के समाप्ति के बाद दी जायेगी। इस अवसर डीपीआरओ परिमल कुमार ने कहा कि प्रधानमंत्री श्रमयोगी मानधन योजना एक महत्वपूर्ण योजना है जो मजदूरों को 60 साल के बाद जीवन यापन के लिए काफी मददगार साबित होगा।

डीएम ने इस योजना को व्यापक प्रचार-प्रसार करने के लिए नोडल पदाधिकारी श्रम विभाग को विशेष निर्देश दिये. मजदूरों के बीच कार्ड का भी वितरण किया गया। मौके पर श्रम अधीक्षक मनीष कुमार के अलावा कई अधिकारी मौजूद थे।




Comment Box