ट्रेनों में बर्थ खाली नहीं रहने से यात्री परेशान, रेलवे जंक्शन पर बढ़ी भीड़ | सीतामढ़ी लाइव

0

होली खत्म होते ही परदेसियों का काम पर लौटना शुरू हो गया है। सीतामढ़ी रेलवे स्टेशन से गुजरने वाली लंबी दूरी की ट्रेनों में यात्रियों की भीड़ बढ़ गई है। आरक्षण टिकट के लिए सभी ट्रेनों में लंबी वेटिग सूची चल रही है।

रविवार को सीतामढ़ी रेलवे स्टेशन के रिजर्वेशन काउंटर पर लंबी कतार देखी गई। लोग सुबह से ही आरक्षण काउंटर पर लाइन में लगा अपनी बारी का इंतजार कर रहे थे। तत्काल टिकट के लिए तो लोगों को दस दस घंटे तक काउंटर के सामने खड़ा होना पड़ता है। इस रेलखंड से गुजरने वाली किसी भी ट्रेन में अगले 15 से 20 दिनों तक बर्थ खाली नहीं है। परदेश के ठिकानों पर रेल से ही सफर करना को मजबूरी है। ट्रेनों में भीड़ व आरक्षण टिकट की मारामारी को लेकर परदेसी खासे परेशान हैं।



परिवार के साथ परदेस लौटने वाले लोग ज्यादा परेशान हैं। परदेश जाने वाले वैसे यात्रियों की भीड़ स्टेशन के प्लेटफार्म सहित विचरण क्षेत्र में देखा जा रहा है। इस दौरान कुछ ऐसे यात्री के ग्रुप भी है, जो गिनती से दस बारह हैं। लेकिन उनके पास मात्र दो-तीन ही आरक्षण टिकट मौजूद हैं। बाकी सभी के पास वेटिग हैं। इसे लेकर पूछे जाने पर यात्री विजय कुमार, सुरेश पासवान, बिनोद राउत सहित कई यात्रियों ने बताया कि आरक्षित रेल टिकट बड़ी मुश्किल से मिल रही है। ऐसे में एक या दो टिकट मिल जाती है, तो हम लोग अपने सामन को सुरक्षित करते हुए अपने गंतव्य तक पहुंच जाते है।


लोगो ने बताया कि होली के चार पांच रोज पूर्व अपने घर आए थे। तब से अपनी अग्रिम यात्रा टिकट को लेकर रेलवे के सीतामढ़ी, बाजपट्टी, ढेंग, बैरगनिया, जनकपुर रोड रेलवे स्टेशन स्थित रिजर्वेशन काउंटर पर रात को नंबर लगा कर खड़े होते रहे। जब तत्काल टिकट का समय होता है, तो काउंटर के अंदर से यह बता दिया गया कि लिक नहीं चल रही है या वेटिग दिखा दिया है। अभी रेलवे के काउंटर से न के बराबर तत्काल टिकट मिल रही है। लोगो ने बताया कि आठ आठ सौ रुपया अधिक देकर टिकट ब्रोकर से लिए है। स्पेशल ट्रेनों में भी आरक्षित टिकट की स्थिति लगभग इसी प्रकार ही है।


Sources:– Dainik Jagran .


Comment Box