इंडोनेशिया विमान हादसा : प्लेन क्रैश की लोकेशन मिली, बचाव दल को मिले शवों के टुकड़े, पढ़ें सभी अपडेट्स

0
132

इंडोनेशिया (Indonesia) की राजधानी जकार्ता से शनिवार को घरेलू उड़ान भरने के कुछ मिनट बाद ही श्रीविजय एयर (Sriwijaya Air) के एक यात्री विमान का हवाई यातायात नियंत्रक (Air Traffice Controler) से संपर्क टूट गया. इस विमान में 62 यात्री सवार थे.

वहीं, रविवार सुबह इंडोनेशियाई बचाव दल को जावा सागर (Java Sea) से शरीर के अंग, कपड़ों के टुकड़े और धातु के स्क्रैप मिले हैं. दूसरी तरफ, इंडोनेशिया की नौसेना ने कहा है कि उन्हें उस जगह का भी पता चल गया है, जहां विमान समुद्र में टकराया होगा.


विमान के संपर्क टूटने को लेकर इंडोनेशिया के परिवहन मंत्री बुदि करया सुमादी ने कहा कि उड़ान संख्या ‘एसजे182’ ने एक घंटे देरी से स्थानीय समयानुसार अपराह्न 2:36 बजे उड़ान भरी थी, जिसका करीब चार मिनट बाद रडार से संपर्क टूट गया. इससे पहले पायलट ने 29,000 फुट की ऊंचाई पर जाने के लिए हवाई यातायात नियंत्रक से संपर्क किया था.

बचाव दल को मिला विमान का मलबा

अधिकारियों ने बताया कि इंडोनेशियाई बचाव दल ने रविवार सुबह जावा सागर से शरीर के अंग, कपड़ों के टुकड़े और धातु के टुकड़े को बरामद किया. अधिकारियों को उम्मीद थी कि वे श्रीविजय एयर फ्लाइट 182 के मलबे को ही ढूंढ़ रहे हैं, क्योंकि सोनार उपकरण ने विमान के संकेत दिए थे.

परिवहन मंत्री बुदि करया सुमादी ने संवाददाताओं से कहा कि अधिकारियों ने दुर्घटनास्थल के संभावित स्थान की पहचान करने के बाद बड़े पैमाने पर खोज अभियान शुरू किया है. खोज एवं बचाव एजेंसी बागह पुरुहितो ने एक बयान में कहा, ये टुकड़े एसएआर टीम द्वारा लंकांग द्वीप और लाकी द्वीप के बीच पाए गए हैं.

नौसेना ने कहा, प्लैन क्रैश का दुर्घटनास्थल मिला

इंडोनेशिया की नौसेना ने कहा है कि उन्हें उस जगह का पता चल गया है जहां श्रीविजय एयर का एक यात्री विमान क्रैश हुआ. अब इस जगह पर नौसेना के 10 जहाजों को तैनात किया गया है. इसके अलावा, गोताखोरों की टीम लोगों को ढूंढ़ने में लगी हुई है. जांचकर्ता उन वस्तुओं का विश्लेषण कर रहे हैं जिन्हें वे विमान का मलबा मान रहे हैं. बचाव अभियान को देर रात रोक दिया गया था, लेकिन रविवार तड़के एक बार फिर लोगों की तलाश शुरू हो गई है.

प्लैन क्रैश को लेकर एयरलाइन ने क्या कहा

एयरलाइन की ओर से जारी बयान के मुताबिक, विमान ने जकार्ता से पोंटियानक के लिए उड़ान भरी थी, जो इंडोनेशिया के बोर्नियो द्वीप स्थित पश्चिम कालीमंतन प्रांत की राजधानी है. इस उड़ान की अवधि करीब 90 मिनट थी. विमान में 50 यात्रियों के अलावा चालक दल के 12 सदस्य सवार थे. सभी इंडोनेशिया के नागरिक हैं.

श्रीविजय एयर के अध्यक्ष जेफरसन इरविन ने संवाददाताओं से कहा कि विमान उड़ने भरने के लिए पूरी तरह सुरक्षित था. उन्होंने दावा किया कि इससे पहले दिन में विमान ने पोंटियानक और पांग्कल पिनांग शहर के लिए उड़ान भरी थी. जेफरसन ने यह भी कहा कि विमान ने खराब मौसम के चलते देरी से उड़ान भरी थी ना कि किसी अन्य खराबी के चलते.

26 साल पुराना था विमान

बीबीसी की रिपोर्ट के मुताबिक, इंडोनेशिया में कई पुराने विमान उड़ान भर रहे हैं. शनिवार को जो विमान लापता हुआ है, वो 26 साल पुराना था. सुरक्षित उड़ानों के मामले में इंडोनेशिया का रिकॉर्ड ज्यादा अच्छा नहीं हैं. देश में संचालन करने वाले कई विमान ऐसे हैं, जिन्हें 90 के दशक में बनाया गया था.



Comment Box