आ‌र्म्स के साथ शातिर रसूल समेत चार बदमाश गिरफ्तार | सीतामढ़ी लाइव

0
51


एसएपी सुजीत कुमार द्वारा गठित पुलिस की टीम ने हत्या, लूट, रंगदारी, कातिलाना हमला और आ‌र्म्स एक्ट समेत दर्जनों संगीन मामलों के आरोपित शातिर रसूल शेख और उसके तीन शागिर्दों को गिरफ्तार कर बड़ी कामायबी हासिल की है। पुलिस ने इनके पास से चार पिस्टल, 45 कारतूस, तीन मैगजीन और एक बाइक के अलावा पांच किलो ग्राम गांजा भी बरामद किया है। गिरफ्तार बदमाशों में कन्हौली थाना क्षेत्र के खाप खोपराहा निवासी शातिर रसूल शेख के अलावा मेहसौल निवासी मुकेश राय उर्फ महेश्वर, बथनाहा थाना क्षेत्र के हरसिंगपुर निवासी सर्वजीत यादव और महुआवा निवासी वाल्मिकी राय शामिल है। इनमें रसूल शेख कुख्यात बदमाश है। उसके खिलाफ कन्हौली, सोनबरसा, बथनाहा, मेजरगंज और रुन्नीसैदपुर थाने में कई संगीन मामले दर्ज हैं। हाल के दिनों में बथनाहा और सोनबरसा में रंगदारी के लिए फायरिंग कर उसने पुलिस की नींद हराम कर रखी थी। बथनाहा थाने के योगिवाना में रंगदारी के लिए 17 जनवरी को सर्राफा व्यवसायी धनी लाल मंडल को गोली मार कर जख्मी करने, 31 जनवरी को सोनबरसा थाने के भलुआहा स्थित जयराम गैस एजेंसी के मालिक दीप नारायण महतो से रंगदारी मांगने और 8 फरवरी को उक्त एलपीजी एजेंसी पर फायरिंग करने के मामले में पुलिस को उसकी तलाश थी। एसपी ने रविवार को समाहरणालय में आयोजित प्रेस वार्ता में इसकी जानकारी दी। उन्होंने बताया कि कुख्यात राकेश दास की हत्या के बाद रसूल शेख इस गैंग का सरगना बन गया। वह रातोरात अमीर और इलाके का कुख्यात चेहरा बनना चाहता था। यही वजह है कि उसने एक के बाद एक कर कई वारदातों को अंजाम दिया। एसपी ने बताया कि रसूल की गिरफ्तारी के लिए उन्होंने एसडीपीओ सदर डॉ. कुमार वीर धीरेंद्र के नेतृत्व में एक टीम गठित की। टीम में रीगा सर्किल इंस्पेक्टर अनिल कुमार शर्मा, रीगा थानाध्यक्ष सुभाष मुखिया, डुमरा थानाध्यक्ष चंद्रभूषण सिंह, सोनबरसा थानाध्यक्ष राकेश रंजन, बथनाहा थानाध्यक्ष रणवीर कुमार झा, अवर निरीक्षक कन्हैया प्रसाद तथा सशस्त्र बल को शामिल किया गया। इस टीम ने तय रणनीति के तहत जाल बिछाया। इस क्रम में बथनाहा थाने के मटकोरवा गांव स्थित बांसबाड़ी की घेराबंदी कर आ‌र्म्स के साथ चारों बदमाश को उस वक्त दबोचा जब सभी इलाके में बड़े वारदात को अंजाम देने की साजिश रच रहे थे। गिरफ्तार बदमाशों ने कई वारदातों में संलिप्तता स्वीकार की है। बताया कि बदमाशों ने कुछ ऐसे वारदातों को भी अंजाम दिया जो थाने में प्रतिवेदित नहीं हो सके। बताया कि एलपीजी एजेंसी में फायरिंग के दौरान बदमाशों की एक मैगजीन गिर गई थी। घटनास्थल से पुलिस ने मैगजीन और खोखा बरामद किया था। बदमाशों के पास से वारदात में प्रयुक्त पिस्टल भी बरामद की गई है। बरामद पिस्टल, मैगजीन और खोखा को फॉरेंसिक जांच के लिए भेजा जाएगा। एसपी ने बताया कि इस गिरोह के दो और बदमाश हैं, जिनकी गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की जा रही है। बदमाशों को कोर्ट में पेश कर रिमांड पर लिया जाएगा। मौके पर एसडीपीओ सदर डॉ. कुमार वीर धीरेंद्र, इंस्पेक्टर अनिल कुमार शर्मा, रीगा थानाध्यक्ष सुभाष मुखिया, डुमरा थानाध्यक्ष चंद्रभूषण सिंह, सोनबरसा थानाध्यक्ष राकेश रंजन, बथनाहा थानाध्यक्ष रणवीर कुमार झा और अवर निरीक्षक कन्हैया प्रसाद आदि उपस्थित थे।



Comment Box