अंतर जिला गैंग का उद्भेदन, आर्म्स के साथ छह लुटेरे गिरफ्तार

0

एसपी अनिल कुमार द्वारा गठित टीम ने अलग-अलग स्थानों पर छापेमारी करते हुए आ‌र्म्स के साथ छह लुटेरों को गिरफ्तार किया है.

डीएसपी सदर डॉ. कुमार वीर धीरेंद्र के नेतृत्व में पुलिस की टीम ने इन लुटेरों को गिरफ्तार कर अंतर जिला गैंग का उद्भेदन करते हुए सीतामढ़ी में लूट के हुए 14 मामलों का उद्भेदन कर लिया है। पुलिस ने गिरफ्तार बदमाशों के पास से पिस्टल, चार राउंड कारतूस, सात मोबाइल, एक बाइक और 26,700 रुपये नकदी जब्त किया है। गिरफ्तार बदमाश समस्तीपुर और मुजफ्फरपुर जिले के रहने वाले हैं। इनमें दो बदमाश भारत फाइनेंस कंपनी का कर्मी है। बदमाशों में मुजफ्फरपुर जिले के अहियापुर थाने के जगदंबानगर बैरिया वार्ड 15 निवासी रोहित कुमार, पारु थाने के बाजितपुर निवासी संजीव कुमार, मोतीपुर थाने के गढिया निवासी शिवम कुमार, नरियार निवासी कुंदन कुमार शाही, सरैया थाने के जैतपुर ओपी के राम दहिलो निवासी विक्रम कुमार और समस्तीपुर जिले के खानपुर थाने के विशनपुर निवासी रौशन कुमार शामिल हैं।

इसकी जानकारी शनिवार को समाहरणालय में आयोजित प्रेस वार्ता में एसपी अनिल कुमार ने दी। एसपी ने बताया कि गिरफ्तार बदमाश एक बड़े और खतरनाक गैंग के सदस्य हैं। जो पिछले दो साल से सीतामढ़ी के इलाकों में लगातार लूट की घटनाओं को अंजाम दे रहे थे। इनके निशाने पर माइक्रो फाइनेंस कंपनी थी। 28 मार्च को रीगा-बभनगामा पथ पर रीगा थाना क्षेत्र अंतर्गत गणेशपुर गांव के पास स्कॉर्पियो को घेर उसमें सवार भारत फाइनेंस कंपनी के दो अधिकारियों को गोली मार कर छह लाख रुपये लूट लिए थे। गोली से जख्मी भारत फाइनेंस कंपनी की रीगा शाखा के मैनेजर सह मुजफ्फरपुर जिले के मोतीपुर निवासी राज कुमार मालाकार (28) की सदर अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई थी। जबकि सीतामढ़ी शाखा के मैनेजर समस्तीपुर निवासी वीरेंद्र कुमार को सदर अस्पताल से गंभीर स्थिति में रेफर कर दिया गया था।


इस कांड के अलावा अन्य लूटकांड के उद्भेदन के लिए एसडीपीओ सदर डॉ. कुमार वीर धीरेंद्र के नेतृत्व में एक टीम गठित की गई थी। इस टीम में रीगा सर्किल इंस्पेक्टर अनिल कुमार शर्मा और रीगा थानाध्यक्ष सुभाष मुखिया समेत अन्य को शामिल किया गया था। यह टीम अनुसंधान को लगातार आगे बढ़ा रही थी। इस क्रम में रीगा थाने के रेवासी हाईस्कूल के पास चलाए गए वाहन तलाशी अभियान के दौरान शुक्रवार को रोहित कुमार को आ‌र्म्स, मोबाइल, क्रेडिट कार्ड और नगदी के साथ पकड़ा था। पूछताछ में उसने रीगा, सुप्पी, बथनाहा और रून्नीसैदपुर थानों में लूट के मामलों में अपनी संलिप्तता स्वीकार की। वहीं अपने गैंग के सदस्यों का नाम उजागर किया। इसके बाद पुलिस की टीम ने अलग-अलग स्थानों पर छापेमारी कर पांच बदमाशों को दबोच लिया। एसपी ने बताया कि इस गैंग का एक बदमाश फरार चल रहा है, जिसे शीघ्र ही दबोचा जाएगा।

Team.





Comment Box