गरीबों व वंचितों के लिए चलेगा मोदी सरकार का विशेष अभियान, बनेंगे दो करोड़ राशन कार्ड

0
78

जिनके राशन कार्ड न बन पाएं हों, वे जरूर बनवा लें। विशेष अभियान चलाकर समाज के गरीब, कमजोर और वंचित वर्ग के लोगों का राशन कार्ड बनाया जाएगा, ताकि उन्हें रियायती दर पर अनाज मुहैया हो सके। केंद्र सरकार ने इस बाबत सभी राज्यों व केंद्र शासित प्रदेशों को एडवाइजरी जारी कर राशन कार्ड बनाने का अभियान शुरू करने को कहा है। निचले तबके के ऐसे लोगों को राशन कार्ड देकर उन्हें राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा कानून के दायरे में लाया जाएगा। केंद्रीय खाद्य सचिव सुधांशु पांडेय ने बताया कि देश के लगभग दो करोड़ लोगों को नया राशन कार्ड दिया जा सकता है। वे गुरुवार को पत्रकारों से वर्चुअल वार्ता कर रहे थे।

उन्होंने बताया कि शहरी व ग्रामीण गरीबों, कूड़ा बीनने वाले, फेरीवाले, रिक्शा चालक, प्रवासी मजदूरों, बेघर लोग और घूमंतू परिवारों के राशन कार्ड बनाए जा सकते हैं। कोरोना संक्रमण के दौरान समाज के गरीब, कमजोर और वंचित वर्ग के लोगों को राशन न मिलने की खबरें सामने आई। स्थायी पता न होने की वजह से इन लोगों के राशन कार्ड ही नहीं बनाए जा सके हैं। राज्यों से कहा गया है कि वे समाज के निचले तबके के ऐसे लोगों को चिह्नित करने के लिए विशेष अभियान चलाकर उनके राशन कार्ड बनाएं।


खाद्य सचिव पांडेय ने बताया कि पूरे देश में 4.39 करोड़ बोगस राशन कार्डों को रद कर उनकी जगह नए राशन कार्ड बनाए गए हैं। इस प्रक्रिया में समाज के निचले तबके के लोगों को शामिल करने को प्राथमिकता दी जानी चाहिए। खाद्य मंत्रालय की एडवाइजरी में 15 दिन में रिपोर्ट मांगी गई है।

कोरोना की दूसरी लहर के मद्देनजर केंद्र ने गरीब परिवारों के लिए प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना घोषित की है। इसके तहत सभी राशन कार्ड धारकों को मई और जून महीने में प्रति व्यक्ति पांच किग्रा अतिरिक्त अनाज मुफ्त में दिया जा रहा है।



Comment Box