फिल्मी स्टाइल में चल रहा था सेक्स रैकेट, पुलिस की छापेमारी में ऐसे हुआ भंडाफोड़

0
104

कोयंबटूर पुलिस उस समय हैरत में पड़ गई, जब उसने मेट्टुपलायम के पास सरन्या लॉज पर छापा मारा, क्योंकि यहां फिल्मों की तरह एक सीक्रेट रूम था और उसमें सेक्स रैकेट चलाया जा रहा था.

कोयंबटूर में फिल्मी स्टाइल में एक सेक्स रैकेट (Sex Racket) चल रहा था. इसके बारे में किसी को भी नहीं मालूम था कि इस बिल्डिंग में क्यो होता है, लेकिन कोयंबटूर पुलिस (Police) ने मुखबिर की खबर के आधार पर छापा मारकर सेक्स रैकेट में संलिप्त लोगों को गिरफ्तार कर लिया है. कोयंबटूर पुलिस उस समय हैरत में पड़ गई, जब उसने मेट्टुपलायम के पास सरन्या लॉज पर छापा मारा, क्योंकि यहां फिल्मों की तरह एक सीक्रेट रूम था और उसमें सेक्स रैकेट चलाया जा रहा था.


कोयंबटूर पुलिस को मुखबिरों से इस बात की गुप्त सूचना मिली थी कि इस बिल्डिंग में सेक्स रैकेट चलाया जा रहा है. मुखबिरों से सूचना मिलने के बाद कोयंबटूर पुलिस इस मामले को लेकर हरकत में आई और बुधवार की रात पुलिस ने इस लॉज पर छापेमारी की. फिल्मों में जैसे तस्वीर के पीछे सीक्रेट कमरे का दरवाजा छिपा होता है, वैसे ही यहां एक आइने के पीछे छोटा सा कमरा मिला, जिसमें सेक्ट रैकेट चलाया जा रहा था. पुलिस ने इस लॉज से एक महिला को भी इन दरिंदों के चंगुल से छुड़ाया, इस महिला की उम्र लगभग 22 साल बताई जा रही है.

मेट्टुपलायम के एक पुलिस अधिकारी ने मीडिया से बातचीत के दौरान बताया कि, हमने सभी कमरों की तलाशी ली और वे सब खाली मिले. लेकिन एक कमरे में दो दर्पण विपरीत दिशा में लगे देखे. लॉज के मालिक/संचालक ने बाथरूम के एक हिस्से को एक गुप्त कमरे में बदल दिया था. एक छोटे स्टूल की मदद से कोई भी छोटे कमरे के अंदर-बाहर आ-जा सकता है. 

पुलिस ने लॉज में सेक्स रैकेट चलाने के आरोप में दो व्यक्तियों को गिरफ्तार किया है और गुप्त कमरे में मिली बेंगलुरु की 22 वर्षीय एक महिला को छुड़ाया. पुलिस ने कहा कि के. महेंद्रन ने लॉज को लीज पर लिया था और आर. गणेशन को एक कर्मचारी के रूप में नियुक्त किया था. पुलिस ने कहा कि अभी यह पता नहीं लगाया जा सका है कि कमरा महेंद्रन द्वारा बनाया गया था या पहले के संचालकों ने इसे बनाया था.



Comment Box