घर बैठे बनवाएं ड्राइविंग लाइसेंस, जानिए आसान तरीका

0
114

यदि आप वाहन चलाना जानते हैं तो सड़क पर गाड़ी चलाने के नियम आज अच्छी तरह से जानते ही होंगे. बाईक हो या कार या फिर अन्य भारी वाहन इनको सडक पर चलाने के लिए ड्राइविंग लाइसेंस की जरूरत पड़ती है.

क्या आप जानते हैं ड्राइविंग लाइसेंस (Online Driving Licence) कैसे बनता है ? इसके लिए अब आपको आरटीओ आफिस (RTO) जाकर आवेदन करने की जरूरत नहीं होती है.


जमाना बदल चुका है और अब आरटीओ आफिस के चक्कर लगाने की आपको जरूरत नहीं पड़ती है. आप घर बैठे अपने लैपटॉप या कंम्प्यूटर से ऑनलाइन ड्राइविंग लाइसेंस बनवा सकते है. आइए आपको बताते हैं अब घर बैठे कैसे आप ड्राइविंग लाइसेंस बनवा सकते है….

जानें दस्तावेजके बारे में : यदि आप ऑनलाइन ड्राइविंग लाइसेंस के लिए आवेदन करने जा रहे हैं तो आपको कई तरह के कागजात की जरूरत पडेगी. स्थाई पता के लिए आपके पास आधार कार्ड, वोटर कार्ड, बिजली बिल, टेलीफोन बिल, राशन कार्ड, सरकारी कर्मचारियों द्वारा जारी कोई आईडी कार्ड, निवास प्रमाण पत्र जैसे दस्तावेज की जरूरत होती हैं

इसके साथ ही आपको आयु प्रमाण के लिए आपके पास 10वीं कक्षा का मार्कशीट, बर्थ सर्टिफिकेट, पैन कार्ड या फिर मिजिस्ट्रेट द्वारा जारी एफिडेविट की आवश्यकता पडेगी. यहां आप इस बात का खास ध्यान रखें कि आवेदन करने के लिए आपकी उम्र कम से कम 18 साल होनी चाहिए.

ऑनलाइन अप्लाईका तरीका : लर्निंग लाइसेंस बनवाने के लिए राजमार्ग मंत्रालय की वेबसाइट परजाएं और अप्लाई करें. Https://Parivahan.Gov.In/ पर जाएं, यहां राज्यों की सूची में अपने राज्य का नाम सलेक्ट कर लें. इसके बाद लर्नर के लिए ऑप्शन पर क्लिक करें. फॉर्म भरने के बाद एक नंबर जेनरेट होजाएगा, जिसेअपने पास सुरक्षित रख लें.

इसके बाद आप उम्र प्रमाण पत्र, एड्रेस प्रूफ, आईडी प्रूफ अटैच करें. फॉर्म भरने और आईडी प्रूफ देने के बाद अपना फोटो और डिजिटल सिग्नेचर अपलोड करने का काम करें. इसके बाद ड्राइविंग टेस्ट के लिए स्लॉट बुक करालें और फीस भर दें.

ऑनलाइन टेस्ट: फीस जमा करने के बाद स्लॉट के हिसाब से RTO ऑफिस जाकर टेस्ट देने की जरूरत आपको पडेगी. यह टेस्ट ऑनलाइन होता है

और इसमें यातायात के नियमों तथा यातायात चिह्नों के बारे मेंआपसे सवाल किये जाते हैं. एक प्रश्न के 4 उत्तर होते हैंयानी आपको ऑपशन दिया जाता है. जैसे-जैसे आप सवालों के जवाब देते जाएंगे, उनके सही या गलत उत्तर के बारे में भी सूचना आपको मिल जाएगी और टेस्ट पूरा करते ही आपके सामने आपका रिजल्ट आ जाएगा. इससे पता चलेगा कि आप पास हैं या फेल….

शुरुआत में लर्निंग लाइसेंस : शुरुआत में लर्निंग लाइसेंस बनाने का काम किया जाता है लेकिन, 6 महीने बाद लाइसेंस को पक्का कराया जा सकता है.

Input: प्रभात खबर



Comment Box