कोरोना संक्रमित को मिलेंगे 5000 रुपये, ऐसे लें बीपीएल परिवार लाभ

0
43

कोविड से पीड़ित अपने राज्य के गरीब लोगों की मदद के लिए सरकारी खजाने का द्वार खोल दिया है। प्रदेश सरकार ने विशेष कार्य योजना के तहत निर्णय लिया है कि पैसे की कमी के चलते किसी गरीब का ईलाज नहीं रुकेगा। गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करने वाले ऐसे लोग, जो घर में रहकर उपचार करा रहे हैं यानी होम आइसोलेट हैं, उन्हें सरकार एकमुश्त पांच हजार रुपये की चिकित्सा सहायता राशि प्रदान करेगी। यह राशि सीधे गरीब मरीजों के बैंक खाते में भेजी जाएगी।

हरियाणा के गृह, शहरी निकाय और स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने रविवार को प्रदेश सरकार के इस अहम फैसले की जानकारी दी। इससे पहले मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने निजी अस्पतालों में हरियाणा के लोगों के इलाज को प्राथमिकता देने वाले तथा बीपीएल कार्ड धारक कोरोना मरीजों के इलाज के लिए कई अहम घोषणाएं की थी।


हरियाणा सरकार पहले ही निर्णय ले चुकी है कि किसी भी अस्पताल में सात दिन तक इलाज कराने पर बनने वाले बिल में बीपीएल कार्डधारक व्यक्ति को 35 हजार रुपये की छूट प्रदान की जाएगी। इसके अलावा हरियाणा के लोगों को अपने यहां इलाज के लिए भर्ती करने पर कोविड रजिस्टर्ड अस्पतालों को प्रति व्यक्ति प्रतिदिन एक हजार रुपये दिए जाएंगे, जो अधिकतम सात दिन के लिए होंगे। यानी सात हजार रुपये की सहयोग राशि ऐसे अस्पतालों को मिलेगी।

हरियाणा सरकार के अस्पतालों में करीब 40 फीसद मरीज ऐसे हैं, जो दिल्ली के हैं, लेकिन सरकार उन्हें भी इलाज के लिए मना नहीं कर रही है। इसके बावजूद सरकार चाहती है कि अपने राज्य के मरीजों को इलाज में प्राथमिकता मिलनी चाहिए। मुख्यमंत्री राज्य के ग्रामीण इलाकों में रह रहे करीब 40 लाख परिवारों तक इलाज पहुंचाने के लिए आठ हजार टीमों का गठन पहले ही कर चुके हैं। 500 परिवारों पर एक टीम काम करेगी, जो गांव देहात में कोरोना महामारी से पीड़ित लोगों को राहत प्रदान करेगी।

हरियाणा में 6700 गांव हैं। शहरी परिवारों की संख्या 20 लाख के आसपास है। साथ ही हर गांव में कोविड आइसोलेशन सेंटर बनाने की भी योजना है। गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज हाल ही में एक ऐसी किट भी लांच कर चुके हैं, जिसमें अंग्रेजी व देसी दवाइयों के साथ जरूरी उपकरण हैं, जो होम आइसोलेट मरीजों को मिलेगी। राज्य में करीब 98 हजार होम आइसोलेट मरीज हैं। किट की कीमत पांच हजार रुपये है।

गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने बताया कि होम आइसोलेट बीपीएल श्रेणी के लोगों के पास सरकार की एकमुश्त पांच हजार रुपये की सहयोग राशि का लाभ हासिल करने के लिए परिवार पहचान पत्र होना अनिवार्य है। निजी अस्पतालों को ऐसे मरीजों की जानकारी https://gmdahrheal.in/ पर अपलोड करनी होगी। प्रदेश में कोविड संबंधी सहायता के लिए 8558893911 हेल्प लाइन नंबर भी जारी किया गया है। इसके अलावा गुरूग्राम व फरीदाबाद को छोडकर कोविड की जानकारी के लिए 1075 हेल्प लाइन नंबर जारी किया गया है।



Comment Box