इस बार डेंगू को लेकर दो माह पहले ही 30 मई से शुरू हो जाएगा महाअभियान, निगम ने किया फैसला

0
32

आठ साल बाद डेंगू के सर्वाधिक मामले दर्ज होने के बाद निगमों ने दो माह पहले ही मच्छर जनित बीमारियों को लेकर महाअभियान शुरू करने का फैसला लिया है। उत्तरी निगम ने इसकी घोषणा करते हुए 30 मई से यह महाअभियान शुरू करने का ऐलान किया है। जबकि हर वर्ष यह महाअभियान निगमों का अगस्त माह के आखिर सप्ताह में या सितंबर के पहले सप्ताह में शुरू हुआ करता था। चूंकि इस वर्ष 22 मई तक ही 25 मरीज राजधानी में डेंगू के सामने आ चुके हैं इसलिए निगमों ने पहले ही महाअभियान शुरू करने का फैसला लिया है।

उत्तरी निगम के महापौर जय प्रकाश ने बताया कि मच्छरजनित बीमारियों पर एक्शन प्लान को लेकर उन्होंने निगमायुक्त और स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के साथ उच्चस्तरीय बैठक की है। जिसमें मच्छरजनित बीमारियों को लेकर तीन चरणों में महाअभियान चलाने का फैसला लिया गया है। उन्होंने बताया कि पहले चरण में उत्तरी दिल्ली नगर निगम के कर्मचारी घर घर जाकर डेंगू, मलेरिया और चिकनगुनिया के लार्वा की जांच करने के साथ साथ नागरिकों को जागरूक करने का कार्य करेंगे। दूसरे चरण में जलाशयों में मच्छरों की जैविक उत्पत्ति रोकने के लिए गंबूजिया मछली छोड़ने का कार्य किया जाएगा। वहीं तीसरे चरण में क्षेत्रों में फागिंग और बड़े नालों में दवाई छिड़कने का कार्य किया जाएगा।


जय प्रकाश ने कहा कि उत्तरी दिल्ली नगर निगम नागरिकों के स्वास्थ्य के प्रति संवेदनशील है? इसलिए हम अपनी तरफ से सभी प्रयास कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि इस अभियान को सफल बनाने में नागरिकों का सहयोग अत्यंत आवश्यक है क्योंकि डेंगू, मलेरिया व चिकनगुनिया के लिए उत्तरदायी एडीज मच्छर अधिकतर घरों के अंदर वउनके आस पास उत्पन्न होता है।

वहीं, दक्षिणी निगम के नेता सदन नरेंद्र चावला ने कहा कि हम भी मच्छर जनित बीमारियों की रोकथाम के लिए गंभीर है। विभागों को पूरी तैयारी से उतरने के लिए कहा गया है। साथ ही उन सभी मुद्दों पर काम करने के लिए कहा गया है कि जिससे मच्छरों की उत्पति रुके और मच्छरजनित बीमारियों का प्रकोप भी न हो।



Comment Box