बीएड की परीक्षाओं पर अहम फैसला, प्रमोटेड को भी मिलेगा मौका | सीतामढ़ी लाइव

0

बीआरए बिहार विश्वविद्यालय के परीक्षा बोर्ड ने बुधवार को विभिन्न परीक्षाओं को लेकर कई अहम फैसले लिए। कुलपति डॉ.अमरेंद्र नारायण यादव ने कहा कि विद्यार्थियों के हित में ये सारे फैसले हुए हैं। परीक्षा नियंत्रक डॉ. ओपी रमण ने बताया कि बीएड सेकेंड ईयर की एक फरवरी से होने वाली परीक्षा फिलहाल स्थगित कर दी गई है। अब 17 फरवरी से होगी। बीएड सेकेंड ईयर में फॉर्म भरने की अवधि अब 8 फरवरी तक विस्तारित कर दी गई है। वहीं अंडरटेकिंग लेकर फस्र्ट ईयर वालों की स्पेशल परीक्षा भी मार्च में ली जाएगी। दोनों का रिजल्ट 31 मार्च तक हर हाल में प्रकाशित हो जाएगा।

अंडर टेकिंग लेकर ली जाएगी परीक्षा


परीक्षा नियंत्रक के मुताबिक बीएड फस्र्ट ईयर 2017-19 बैच के प्रमोटेड छात्रों के लिए मार्च में स्पेशल परीक्षा का आयोजन होगा। लेकिन, चूंकि उसके पहले बीएड सेकेंड ईयर की परीक्षा फरवरी में होनी है उनके छात्रों को अंडरटेकिंग लेकर फॉर्म भराने की अनुमति दी जाएगी। इस आशय का अंडरटेकिंग लिया जाएगा कि विश्वविद्यालय द्वारा आयोजित बीएड फस्र्ट ईयर की स्पेशल परीक्षा में अगर वे अपना बैकलॉग क्लीयर नहीं कर पाते हैं तो उनके सेकेंड पार्ट का रिजल्ट अमान्य हो जाएगा। रिजल्ट 31 मार्च तक फाइनल कर देना है। इसमें तकरीबन 300 विद्यार्थी होंगे।

परीक्षा फॉर्म नहीं होने से स्थगित हुई परीक्षा


परीक्षा नियंत्रक ने कहा कि बीएड सेकेंड ईयर की एक फरवरी से होने वाली परीक्षा में बहुत सारे कॉलेजों के द्वारा परीक्षा प्रपत्र ही नहीं भेजा गया। इसके कारण परीक्षा को फिलहाल स्थगित कर देना पड़ा है। अब 17 फरवरी से यह परीक्षा होगी। परीक्षा बोर्ड ने इस बात को गंभीरता से लेते हुए निर्णय लिया है कि सभी बीएड कॉलेज के प्राचार्यों को पत्र भेजा जाए। इसके लिए परीक्षा फॉर्म भरने की तिथि को 8 फरवरी तक विस्तारित किया गया है। वे कॉलेज अपने सभी छात्रों का परीक्षा प्रपत्र 9 फरवरी को विश्वविद्यालय में निश्चित रूप से जमा कर दें। ताकि, बीएड सेकेंड ईयर की परीक्षा का संचालन सफलता पूर्वक हो सके। साथ ही साथ सभी बीएड कॉलेज के प्राचार्यों को यह पत्र भी निर्गत करने का निर्णय हुआ है कि अगर 9 फरवरी तक वो परीक्षा प्रपत्र विश्वविद्यालय को उपलब्ध नहीं कराते हैं या कोई भी परीक्षार्थी अगर परीक्षा देने से वंचित रह जाता है तो इसकी सारी जवाबदेही संबंधित महाविद्यालय की होगी।

प्रतियोगिताओं में भाग लेने के कारण वंचितों की भी स्पेशल परीक्षा

परीक्षा नियंत्रक ने बताया कि बोधगया में एकलव्य व बंगलुरू में नेशनल प्रतियोगिता में भाग लेने के कारण स्नातक थर्ड पार्ट के जिन छात्र-छात्राओं की परीक्षाएं छूट गई हैं, उनकी भी स्पेशल परीक्षा ली जाएगी। स्नातक थर्ड पार्ट के जिस-जिस पेपर की परीक्षा उन लोगों की छूट गई थी उनके लिए स्पेशल परीक्षा लेने का निर्णय हुआ है।

Sources : Dainik Jagran |


Comment Box