बिहार बोर्ड की मैट्रिक परीक्षा 21 फरवरी से होगी, जान लीजिए महत्वपूर्ण बातें | सीतामढ़ी लाइव एडुकेशन

0

बिहार विद्यालय परीक्षा समिति द्वारा आयोजित मैट्रिक वार्षिक परीक्षा 21 फरवरी से शुरू हो रही है। परीक्षा में इस बार लड़कों की तुलना में 13,541 लड़कियां अधिक शामिल होंगी। राज्य भर के 16 लाख 60 हजार 609 परीक्षार्थी शामिल होंगे, जिसमें छात्राओं की संख्या 8 लाख 37 हजार 75 है। छात्रों की संख्या 8 लाख 23 हजार 534 है। परीक्षा केंद्र में जूता-मोजा पहनकर प्रवेश की इजाजत नहीं होगी. परीक्षार्थियों को प्रवेश पत्र की मूल प्रति और पेन के सिवा कुछ भी ले जाना वर्जित रहेगा। केंद्राधीक्षक के अलावा किसी भी पदाधिकारी, कर्मचारी और वीक्षक को मोबाइल के साथ प्रवेश वर्जित रहेगा। परीक्षार्थियों को परीक्षा आरंभ होने से कम से कम 10 मिनट पहले केंद्र में प्रवेश करना अनिवार्य होगा।

इंटरमीडिएट परीक्षा की तरह ही इस बार मैट्रिक की उत्तर पुस्तिका और ओएमआर शीट पर परीक्षार्थियों का नाम, रौल नंबर, रौल कोड और विषय कोड प्रिंटेड मिलेगा। किसी प्रकार की इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस लेकर परीक्षा केंद्र में प्रवेश वर्जित रहेगा। राज्य भर में 1,418 परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं। मैट्रिक परीक्षा के लिए 8 लाख 42 हजार 888 परीक्षार्थी प्रथम पाली में और 8 लाख 17 हजार 721 अभ्यर्थी द्वितीय पाली में शामिल होंगे।


परीक्षार्थी क्या करें और क्या नहीं –

परीक्षा भवन में जूता-मोजा पहनकर प्रवेश वर्जित रहेगा, इसलिए घर से चप्पल पहन कर जा सकते हैं। प्रवेश पत्र एवं पेन के अलावा कुछ भी साथ नहीं ले जाएं। वीडियो कैमरे के समक्ष जांच में कैलकुलेटर, मोबाइल फोन एवं अन्य इलेक्ट्रॉनिक गैजेट्स यथा-ब्लूटूथ, इयरफोन मिलने पर परीक्षा से वंचित हो सकते हैं। उत्तर पुस्तिका एवं ओएमआर पर व्हाइटनर, इरेजर, नाखून, ब्लेड का इस्तेमाल नहीं करें।




Comment Box