New Year 2021: इस वर्ष बिहार के लिए ये आठ बातें होंगी खास

0
38

पटना. नव वर्ष की शुरुआत हो चुकी है और यह बिहार के लिए काफी महत्वपूर्ण रहने वाला है. न सिर्फ देश-प्रदेश की राजनीति के लिए नये- नये कोण यहां से बन सकते हैं. नीतीश कैबिनेट के विस्तार से लेकर निचले स्तर पर लोकतंत्र की मजबूती के लिए पंचायत चुनाव करवाए जाएंगे. रोजगार के लिए भी ढेर सारे अवसर की उम्मीद की जा रही है वहीं सात निश्चय योजना के साथ ही विकास के नये आयाम सामने आएंगे. आइए जानते हैं साल 2021 में बिहार में क्या-क्या है खास.

वर्ष 2021 में ही मकर संक्रांति (14 जनवरी) के बाद नीतीश कुमार कैबिनेट का विस्तार किया जाएगा. नीतीश कैबिनेट के विस्तार में जेडीयू और बीजेपी के मंत्री शामिल होंगे. हालांकि अभी भी दोनों ही दलों के बीच मंत्रियों की संख्या को लेकर गतिरोध बना हुआ है, लेकिन उम्मीद की जा रही है कि नये साल में दोनों ही पार्टियों के बीच सहमति बन जाएगी.


बिहार बोर्ड इंटर और मैट्रिक परीक्षा 2021 फरवरी 2021 में आयोजित की जाएगी. तय कार्यक्रम के अनुसार, कक्षा 12 के लिए परीक्षाएं 1 से 13 फरवरी तक, कक्षा 10 की परीक्षाएं में 17 से 24 फरवरी 2021 के बीच आयोजित की जाएंगी. कक्षा 12 के लिए प्रैक्टिकल परीक्षाएं 9 से 18 जनवरी, 2021 के बीच आयोजित की जाएंगी.

बिहार में साल 2021 में पंचायत चुनाव होना है. पंचायत चुनाव के लिए इस साल विशेष तैयारी की गई है. होली के बाद बिहार में पंचायत चुनाव होगा. बताया जा रहा है कि नौ चरणों में यह चुनाव होगा. इसके मई तक चलने की बात चुनाव आयोग के सूत्र बता रहे हैं. इसके साथ ही यह भी अब पक्का है कि इस बाह चुनाव ईवीएम से करवाए जाएंगे.

बिहार विधानसभा चुनाव में इस बार सरकारी नौकरियों का मुद्दा काफी मुखरता से उछाला गया. ऐसे में उम्मीद की जा रही है कि साल 2021 में सरकारी नौकरी की भी बंपर वैकेंसी आएगी. सरकारी क्षेत्र में इस साल करीब 1 लाख नौकरी निकलने की संभावना है. माना जा रहा है कि नए वित्तीय वर्ष में प्रवेश के साथ ही अप्रैल से वैकेंसियां आनी शुरू हो जाएंगी.

मई में पंचायत चुनाव संपन्न हो जाएगा. इसी के साथ ही पंचायत स्तर पर नई व्यवस्था लागू होने के साथ ही नीतीश सरकार की महत्वाकांक्षी योजना सात निश्चय पार्ट टू को जमीन पर उतारने का सिलसिला शुरू हो जाएगा. बता दें कि सात निश्चय योजना जेडीयू और बीजेपी सरकार के घोषणापत्र में है. इसके आधार पर ग्रास रूट लेवल पर योजनाएं शुरू करने की कवायद तेज की जाएंगी.

गया, बोधगया व राजगीर के सभी लोगों को रोजाना 135-135 लीटर पानी मिलेगा। इसके लिए ‘गंगा वाटर लिफ्ट स्कीम’ के तहत जून, 2021 से पानी उपलब्ध होगा. जल संसाधन विभाग की योजना के अनुसार मई-जून तक लखनदेई नदी पुर्नजीवित हो जाएगी. इसी साल फल्गू नदी में 2 फीट पानी रहने का इंतजाम हो जाएगा.

राजगीर में जू सफारी बनकर लगभग तैयार है. इसे सेंट्रल जू अथॉरिटी ने स्वीकृति दे दी है. यदि सबकुछ ठीकठाक रहा तो नये साल में पर्यटक जू सफारी की सैर कर सकेंगे. जू सफारी करीब 472 एकड़ में फैला हुआ है और राजगीर की पहाड़ियों से घिरा हुआ है. इस जू सफारी में अलग-अलग बाड़े में 5 तरह के मांसाहारी व शाकाहारी जंगली जानवर खुले में विचरण करते देखे जा सकेंगे.

साल 2021 में ही जेडीयू और कांंग्रेस में भारी फेरबदल किया जाएगा. जेडीयू ने राष्ट्रीय स्तर पर बदलाव कर लिया है. वहीं कांग्रेस प्रदेश और राष्ट्रीय स्तर पर भी बदलाव करेगी. वहीं, राजद की ओर से भी अपने संगठन को मजबूत करने की कवायद करेगी तो भारतीय जनता पार्टी अपने जनाधार के विस्तार की नीति को आगे बढ़ाने पर काम करेगी.



Comment Box