BREAKING : बागमती नदी पर बना काफर डैम टूटा, तटबंध पर बढ़ा दबाव

0

बेनीपुर के पास बागमती नदी की उपधारा पर बांधा गया काफर डैम सोमवार की दोपहर करीब 40 फुट टूट गया. इससे पहले 30 जून को टूटा था. उस समय मरम्मत पर 1.50 करोड़ रुपये खर्च किये गये थे. लेकिन हल्की बारिश में ही नदी में पानी बढ़ने से फिर से बांध टूट गया है.

बागमती नदी की दक्षिणी उपधारा प्रखंड क्षेत्र के बेनीपुर मटिहानी फतेहपुर बेरौना, मधुबन प्रताप महुआरा, अतरार, चैनपुर चौर स्थित उपधारा होकर बागमती परियोजना दक्षिणी बांध की बगल से होकर धनौर के समीप जाकर मुख्यधारा में मिल गयी है.


बागमती नदी की उपधारा में दूसरी बार अचानक पानी आ जाने के कारण लोगों को आने-जाने में परेशानी हो रही है. गौरतलब है कि दो माह पूर्व बागमती नदी की दक्षिणी उपधारा पर बांध निर्माण कर दिये जाने के कारण बागमती नदी की पुरानी धारा में बागमती नदी की मुख्य धारा प्रवाहित हो रही थी, जिस पर करीब 24 करोड़ की लागत आयी थी.

वहीं किसानों का कहना कि डैम टूटने से काफी नुकसान हुआ है. करोड़ से बना था बांध, मरम्मत के नाम पर खर्च हुए थे 1.50 करोड़ रुपये सुपौल : कोसी का जल स्तर बढ़ा, गावों में घुसा पानी सुपौल : पिछले दो दिनों से बारिश होने के कारण कोसी नदी का जल स्तर बढ़ गया है. रविवार को कोसी का डिस्चार्ज एक लाख क्यूसेक के पार चला गया था.


हालांकि, नेपाल के तराई क्षेत्र में सोमवार को कम बारिश हुई. इसके कारण डिस्चार्ज में थोड़ी कमी आयी. सोमवार को भी वीरपुर बराज से कोसी का डिस्चार्ज एक लाख क्यूसेक के पार रहा. सोमवार की सुबह छह बजे तक एक लाख 01 हजार 335 क्यूसेक पानी छोड़ा गया. कोसी के जल स्तर बढ़ने से तटबंध के भीतर बसे लोगों की परेशानी बढ़ने लगी है. कई गांवों में बाढ़ का पानी घुसने लगा है.

बांध के भीतर बौराहा, अड़राहा, सिमराहा सहित मौजहा पंचायत के बुढ़िया डीह, सिसवा, पंचगछिया सहित अन्य गांवों में पानी घुस गया. जल संसाधन विभाग के चीफ इंजीनियर प्रकाश दास ने बताया कि रविवार को पहाड़ी क्षेत्र में अधिक बारिश हुई थी. इससे जल स्तर बढ़ गया है.

Sources : Prabhat Khabar.



Comment Box