विधानसभा अध्यक्ष का चुनाव NDA ने जीता, विजय सिन्हा बने स्पीकर

0
14

17वीं बिहार विधानसभा के स्पीकर को लेकर चुनाव हो गया. स्पीकर को लेकर महागठबंधन और एनडीए ने अपना उम्मीदवार उतारा, लेकिन बाजी एनडीए के उम्मीदवार विजय सिन्हा ने मारी. विजय सिन्हा के समर्थन में 126 और विरोध में 114 वोट पड़ा. 

नीतीश-तेजस्वी आसन पर लेकर आए


विजय सिन्हा के स्पीकर चुने जाने की घोषणा के बाद सीएम नीतीश कुमार और नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव विजय सिन्हा को आसन पर लेकर गए. विजय सिन्हा ने स्पीकर चुने जाने के बाद सभी विधायकों को धन्यवाद दिया. सदन के प्रति आधार जताया हैं. इसके बाद सीएम नीतीश कुमार ने स्पीकर चुने जाने के बाद विजय सिन्हा को बधाई दी. 

नीतीश ने दी बधाई

संबोधन में सीएम ने कहा कि आप अध्यक्ष की निष्पक्ष भूमिका होती है. आपको सत्ता और विपक्ष के बातों को सुन नियम के अनुसार काम करना है. आप सदन के सदस्य रहे हैं और मंत्री भी रहे हैं. सबकुछ जानते भी हैं. हमलोगों को संभवाना हैं कि आप अपनी भूमिका बेहतरीन तरीके से चलाएंगे. सभी को अपनी बात रखने का अधिकारी है और अध्यक्ष महोदय को नियम के अनुसार चलाने का हक हैं. 

सच को छुपाया जा रहा

तेजस्वी यादव ने कहा कि अध्यक्ष महोदय सभी को साथ लेकर आपको चलना हैं. सदन में सभी को अपनी बात रखने का अधिकार है. हम सभी को जनता ने चुना हैं. उनकी समस्या और प्रश्न  सामाधान सभी को करना है. विपक्ष अलग नहीं होता है. लेकिन आजकल लोकतंत्र की हत्या हो रही है. सच को छुपाया जा रहा है. लेकिन आप आसान के जरिए संविधान को बचाया जाए. सच का साथ दें.

चुनाव से पहले प्रोटेम स्पीकर जीतन राम मांझी ने कहा कि क्या सर्वसम्मति से स्पीकर चुनाव का जो प्रस्ताव आया है. इसपर सभी लोग सहमत है, लेकिन इसका तेजस्वी यादव ने विरोध किया. तेजस्वी ने कहा कि अगर नियम की बात की जाए तो चार साल में चार सरकार देखी गई है. तेजस्वी ने कहा कि बिहार में जनादेश की चोरी हुई है. विपक्ष ने गुप्त मतदान की मांग की, लेकिन स्पीकर ने गुप्त मतदान कराने से इंकार कर दिया और कहा कि इस तरह की परंपरा नहीं रही हैं. 



Comment Box