ब्रेकिंग : नेपाल आर्म्ड फोर्स की गोलीबारी में एक भारतीय किसान घायल

0
47

इंडो-नेपाल बॉर्डर पर टेढ़ागाछ के फतेहपुर बॉर्डर आउट पोस्ट के समीप नेपाल आर्म्ड फोर्स के द्वारा शनिवार देर शाम को की गई फायरिंग में एक किसान घायल हो गए। घायल किसान की गंभीर स्थिति को देखते हुए इलाज के लिए पूर्णिया ले जाया गया है। ग्रामीणों के साथ झड़प के दौरान नेपाल आर्म्ड फोर्स के द्वारा तीन राउंड फायरिंग किए जाने की बात कही जा रही है। जिस कारण सीमा पर तनाव की स्थिति बनी हुई है। एसएसबी 12वीं बटालियन के कमांडेंट ललित कुमार समेत तमाम पदाधिकारी घटनास्थल पर कैंप कर रहे हैं।

जानकारी के अनुसार खनियाबाद पंचायत के माफी टोला निवासी जितेंद्र कुमार सिंह (31 वर्ष), पिता सुरेंद्र प्रसाद सिंह बॉर्डर के समीप अपने खेत में काम कर रहे थे। धनरोपणी के बाद शाम को जब वे हल बैल लेकर घर लौटने लगे तो रास्ते से एक बैल वापस खेत की ओर भाग गया। बैल को पकड़ने के दौरान वे नेपाल की सीमा में प्रवेश कर गए। नो मेंस लैंड के उस पार तैनात नेपाल आर्म्ड फोर्स के जवानों ने मवेशी तस्कर समझकर उसे दबोच लिया। जिसके बाद जितेंद्र ने शोर मचाया, इस बीच व मवेशी को छोड़कर किसी तरह वापस भाग निकला।


मौके पर जुटे ग्रामीणों ने नेपाल आर्म्ड फोर्स को किसान होने की बात कह समझाने की कोशिश की। लेकिन विवाद बढ़ता चला गया और फिर झड़प के दौरान गोलीबारी की घटना में जितेंद्र को बाएं कंधे में गोली लगने से वह घायल हो गए। जिसे तत्काल इलाज के लिए टेढ़ागाछा पीएचसी लाया गया। पीएचसी में प्रारंभिक उपचार के बाद रेफर कर दिया गया। जिसके स्वजन शनिवार देर रात को ही पूर्णिया ले गए।

बॉर्डर पिलर संख्या 152/151 के मध्य नो मेंस लैंड से सटे नेपाल सीमा क्षेत्र का नावा टोली गांव के समीप घटित घटना को लेकर रविवार दोपहर को एसएसबी कमांडेंट ललित कुमार सहित अन्य पदाधिकारी मौके पर पहुंचे। कमांडेंट ने बताया कि फिलहाल माहौल शांतिपूर्ण है। इस मामले को लेकर ग्रामीणों व नेपाल आर्म्ड फोर्स के साथ बैठक की जाएगी।

घटना की जानकारी मिली है। स्थानीय पुलिस व एसएसबी अधिकारी मौके पर कैंप कर रहे हैं। नो मेंस लैंड इलाके में घटित हुई इस घटना को लेकर पूरे मामले पर पुलिस की नजर बनी हुई है। – कुमार आशीष, एसपी

Input : Jagran.



Comment Box