बुखार न हो तो कैसे पहचाने कोरोना है या नहीं? ये 10 लक्षण हैं बड़े संकेत

0
171

कोरोना वायरस की दूसरी लहर ने पूरे देश में तबाही मचा रखी है. एक्सपर्ट कहते हैं कि इस बीमारी के शुरुआती लक्षणों की पहचान कर मरीज की जान बचाई जा सकती है. कोविड-19 में ज्यादातर लोगों को शुरुआत में तेज बुखार की शिकायत होती है. लेकिन कई मामलों में बुखार न होने पर भी लोग पॉजिटिव पाए जा रहे हैं. ऐसे में अन्य लक्षणों को देखकर भी आप इस बीमारी को पहचान सकते हैं.

हल्की लाल आंखें- चीन में हुई एक हालिया स्टडी के मुताबिक, नए स्ट्रेन पर गौर करने पर कुछ खास लक्षणों की पहचान की गई है. इंफेक्शन के नए वेरिएंट में इंसान की आंखें हल्की लाल या गुलाबी हो सकती हैं. आंखों में लालपन के अलावा, सूजन और आंख से पानी आने की भी शिकायत हो सकती है.


लगातार खांसी- लगातार खांसी होना भी कोरोना वायरस के संक्रमण की पहचान है. हालांकि कई बार धूम्रपान या वायरल फ्लू में होने वाली खांसी और कोविड-19 में होने वाली खांसी के बीच पहचान करना जरा मुश्किल हो जाता है. एक्सपर्ट्स की राय है कि लगातार हो रही खांसी में उसका कोरोना समझकर ही इलाज करें.

सांस में तकलीफ- कोरोना की दूसरी लहर में कई मरीजों को सांस में तकलीफ भी हो रही है. ऐसे में अस्थमा से पीड़ित मरीजों को ज्यादा ध्यान देने की जरूरत है. अगर आपको भी सांस लेने में परेशानी हो रही है तो तुरंत ऑक्सीमीटर पर ब्लड ऑक्सीजन की जांच करें और इसके 94 से नीचे पाए जाने पर डॉक्टर से संपर्क करें.

सीने में दर्द- छाती में दर्द उठना कोरोना का एक घातक लक्षण माना जा रहा है. इस तरह के ज्यादातर मरीजों को अस्पताल में एडमिट किया जा रहा है. अगर आप भी छाती में दर्द महसूस कर रहे हैं तो देर न करें और तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें.

लॉस ऑफ टेस्ट एंड स्मैल- गंध और स्वाद की क्षमता का चले जाना, दोनों ही कोविड-19 के असामान्य लक्षण हैं. ये लक्षण शरीर में बुखार होने से पहले दिख सकते हैं. इकलौते लक्षण के रूप में उभर सकते हैं और लंबे समय तक शरीर में रह सकते हैं. यहां तक कि रिकवरी के बाद भी मरीज लंबे समय तक इन्हें महसूस कर सकता है.

थकावट- खांसी और बुखार के अलावा कोविड-19 के मरीजों को अक्सर बहुत ज्यादा थकावट और कमजोरी की भी शिकायत होती है. हालांकि किसी अन्य वायरस इंफेक्शन की वजह से भी आपको थकावट हो सकती है, लेकिन कोविड-19 की थकावट सहन कर पाना जरा मुश्किल हो जाता है.

डायरिया या जी मिचलाना- कोविड-19 के कई मरीजों ने डायरिया और जी मिचलाने जैसे लक्षणों को भी महसूस किया है. इससे मरीजों को पेट में गंभीर ऐंठन और उल्टी की शिकायत हो सकती है.

मांसपेशियों और जोड़ों में दर्द- कोरोना के कई रोगियों खासतौर से बुजुर्गों में मांसपेशियों और जोड़ों में दर्द की शिकायत देखी जा रही है. एक रिपोर्ट के मुताबिक, मांसपेशियों में दर्द तब होता है जब वायरस टिश्यू और सेल्स (ऊतकों और कोशिकाओं) पर हमला करता है. हालांकि ये लक्षण गंभीर रूप से बीमार पड़े लोगों में ही देखा जा रहा है.

Input: aaj tak



Comment Box