बिहार में राजधानी एक्सप्रेस से पकड़े गए 10 रोहिंग्या मुसलमान, बांग्लादेश के शिविर से हुए थे फरार

0
118

किशनगंज. किशनगंज जिले से सटे पश्चिम बंगाल के न्यू जलपाईगुड़ी स्टेशन पर आरपीएफ (RPF) और जीआरपी की टीम ने बुधवार की दोपहर 02501 अगरतला-नई दिल्ली राजधानी स्पेशल ट्रेन से दस रोहिंग्या मुसलमानों (Rohingya) को गिरफ्तार किया. गिरफ्तार रोहिंग्यों में तीन पुरुष, दो महिला और पांच बच्चे शामिल हैं. सभी चकमा देने के चक्कर में थे तभी ट्रेन अधीक्षक की तत्परता के कारण इनकी गिरफ्तारी हुई. ये सभी लोग बांग्लादेश के कोक्स बाजार स्थित कुटुपालंग शिविर से फरार हुए थे.

इसकी जानकारी देते हुए एनएफ रेलवे के सीपीआरओ शुभानन चंद्रा ने बताया कि 02501 अगरतला-नई दिल्ली राजधानी स्पेशल ट्रेन के ड्यूटी पर तैनात ट्रेन अधीक्षक गुवाहाटी स्टेशन पर ट्रेन में सवार होने के बाद टिकटों की जांच में जुटे थे. टिकटों तथा यात्रियों के पहचान पत्रों की जांच के दौरान उन्हें ट्रेन के बी 7 कोच में यात्रा कर रहे कुछ यात्रियों पर संदेह हुआ. ट्रेन अधीक्षक ने संदिग्ध यात्रियों की पुलिस पदाधिकारी द्वारा समुचित जांच के लिए एक मेमो प्रेषित किया. मेमो के आधार पर न्यू जलपाईगुड़ी की आरपीएफ एवं जीआरपी टीम ने अपराह्न 1.40 बजे ट्रेन के न्यू जलपाईगुड़ी पहुंचने पर जांच की.


उन्होंने पाया कि 3 पुरुष, 2 महिलाओं के साथ 5 बच्चे संदेहास्पद नागरिक के रुप में यात्रा कर रहे हैं. उन्हें उसी समय न्यू जलपाईगुड़ी स्टेशन पर ट्रेन से उतार लिया गया और जांच शुरू की गई. जांच के दौरान इनलोगों ने बताया कि वो लोग रोहिंग्या समुदाय से संबंधित हैं तथा 11 जनवरी को अगरतला स्टेशन से ट्रेन पर सवार हुए हैं. वो लोग 10 जनवरी को बांग्लादेश के कोमिल्ला से भारत के सोनामुरा में प्रवेश किए हैं. वो लोग एजेंट की सहायता से ट्रेन पर सवार हुए हैं. कानूनी कार्रवाई के लिए गिरफ्तार सभी रोहिंग्या को जीआरपी न्यूजलपाईगुड़ी को सुपुर्द कर दिया गया है.

Input : News 18



Comment Box