नीतीश के उखनखटोले के कारण नष्ट हो गयी 100 एकड़ में लगी फसल, बर्बाद हो गये दर्जनों किसान

0
114

भागलपुर में आज पुरातात्विक धरोहर को देखने के लिए उखनखटोले यानि हेलीकॉप्टर से उतरे नीतीश कुमार के कारण दर्जनों किसान बर्बाद हो गये. सीएम के हेलीकॉप्टर के लिए बने हेलीपैड और उड़नखटोले को देखने आये हजारों लोगों ने सैकड़ों एकड़ में लगी फसल को रौंद दिया. खेत में लगी गेहूं औक मक्के की फसल के साथ सब्जियों के पौंधे रौंद डाले गये. बर्बाद हुए किसानों को अब जिला प्रशासन मुआवजा देने का आश्वासन दे रहा है.

खेत में बना सीएम का हेलीपैड
दरअसल मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भागलपुर के गुवारीडीह में पुरातात्विक स्थल को देखने गये थे. उस पुरातात्विक स्थल से सिर्फ तीन किलोमीटर दूर जयरामपुर उच्च विद्यालय है, जहां मैदान भी है. सीएम को उस स्कूल से पुरातात्विक स्थल तक पहुंचे में पांच मिनट लगते. लेकिन तीन किलोमीटर की वो सड़क बेहद जर्जर स्थिति में है. लिहाजा हाईस्कूल में हेलीपैड बनाने के बजाय गुवारीडीह में कामा माता स्थान के पास खेत के बीच हेलीपैड बना दिया गया.  किसान कह रहे हैं कि सड़क की बदतर हालत छुपाने के लिए उन्हें बर्बाद कर दिया गया.


दरअसल जब सीएम का हेलीकॉप्टर उतरा तो उसे देखने के लिए बिहपुर और आसपास के इलाकों से हजारों लोग उमड़ पड़े. हेलीकॉप्टर देखन के चक्कर में उन्होंने खेत में लगे फसल को रौंद दिया. किसानों ने अपने खेत में परवल, करेला जैसी सब्जियों के साथ साथ गेहूं और मक्के की फसल लगायी थी. हेलीकॉप्टर, हेलीपैड और उसे देखने आयी भीड़ ने पूरी फसल को रौंद दिया.

सब मिट्टी में मिल गया
गोवारीडीह के किसान बशीर ने कर्ज लेकर दो बीघे में परवल और 12 कट्ठे में गेहूं की फसल लगायी थी. इसके लिए उन्होंने 50 हजार रूपये कर्ज भी लिये थे. सीएम का हेलीकॉप्टर उड़ रहा था तो बशीर के चेहरे पर ठंढ़ में भी पसीना छलक रहा था. गला रूंधा था और जब मीडिया ने पूछा तो एक ही लाइन बोल पाये-सब मिट्टी में मिल गया. बशीर का कहना था कि वे बर्बाद हो गये लेकिन गरीब हैं इसलिए कर भी क्या सकते हैं.

बशीर के खेत के पास ही नवीन और मनोज चौधरी की 14 बीघा जमीन है. दोनों भाई हैं और उन्होंने भी परवल और मकई की खेती की थी. फसल अच्छी थी, लिहाजा उम्मीद थी इस दफे अच्छी कमाई होगी. लेकिन सीएम के हेलीकॉप्टर ने सारे सपने तोड़ दिये. अब घर कैसे चलेगा इसकी फिक्र लगी हुई है. गांव के राजेश कुमार, ब्रजेश जैसे किसानों का भी यही दर्द था.

प्रशासन ने मुआवजे का आश्वासन दिया
सीएम के हेलीकॉप्टर के कारण फसल बर्बाद हुई तो किसानों ने नाराजगी जतायी. प्रशासन को डर लगा कि सीएम के सामने ही बखेड़ा नहीं खड़ा हो जाये.  भागलपुर के जिलाधिकारी ने कहा कि किसानों को मुआवजा दिया जायेगा. उन्होंने कहा कि बिहपुर के सीओ को फसल क्षति की जांच कर रिपोर्ट देने को कहा जा रहा है. लेकिन रिपोर्ट कब आयेगी, किसानों को कितना मुआवजा मिलेगा और उसके लिए कितना चक्कर काटना पड़ेगा ये पता नहीं. 



Comment Box