कड़ाके की ठंड और शीतलहर की चपेट में सीतामढ़ी, 26 जिलों के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी

0
178

बिहार में ठंड पूरे चरम पर है और शीतलहर (Cold Wave) का प्रकोप शुरू हो चुका है. लगातार घटते तापमान ने लोगों की मुश्किलें बढ़ा दी है. उत्तर भारत में पहाड़ों पर हो रही बर्फबारी के बाद बिहार में भी मौसम विभाग ने एक साथ 26 जिलों के लिए ऑरेंज अलर्ट (Orange Alert) जारी किया है. शनिवार रात से राज्य के कई हिस्‍सों में न्यूनतम तापमान सामान्य से 7 डिग्री तक नीचे पहुंच गया. गया में न्यूनतम तापमान सबसे कम 3.6 डिग्री रिकॉर्ड किया गया, जबकि पटना में इस साल का अब तक का सबसे न्यूनतम तापमान 6 डिग्री रिकॉर्ड किया गया.

ठंड की वजह से जिला प्रशासन ने भी अलर्ट जारी करते हुए नगर निगम और सभी अंचलाधिकारियों को गरीबों के लिए समुचित रैन बसेरा और अलाव का इंतजाम करने का निर्देश दिया है. पटना में शनिवार रात से ही 48 जगहों पर अलाव जलने लगा है, जबकि रविवार को कई और नए जगहों पर अलाव की व्यवस्था कराई जाएगी. हालांकि, राहत की बात ये है कि जहां ठंड और बर्फीली हवा से लोगों का जीना मुहाल हो गया है, वहीं कोहरे से पिछले 2 दिनों से राहत मिल रही है.


अभी और ठंड बढ़ने के आसार
मौसम वैज्ञानिक आनंद शंकर की मानें तो अगले दो दिनों तक राज्य में ठंड में और बढ़ोतरी की संभावना है. बढ़ते ठंड ने गरीबों की जहां मुश्किलें बढ़ा दी है. वहीं, बुजुर्गों और बीमारों की बीमारी भी बढ़ने लगी है और अस्पतालों के ओपीडी में मरीजों की संख्‍या में 15 प्रतिशत का इजाफा हुआ है. अभी ज्यादातर लोग शाम होते ही जहां घरों में दुबके नजर आते हैं तो सुबह 10 बजे से पहले सड़कों पर ट्रैफिक का दवाब भी काफी कम रहता है.

इन जिलों के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी
पटना, गया, नालंदा, शेखपुरा, बेगूसराय, लखीसराय, नवादा, बक्सर, भोजपुर, रोहतास, भभुआ, औरंगाबाद, जहानाबाद, अरवल, सीतामढ़ी, मधुबनी, मुजफ्फरपुर, दरभंगा, वैशाली, शिवहर, समस्तीपुर, प. चंपारण, सीवान, सारण, पूर्वी चंपारण, गोपालगंज. मौसम विभाग के पूर्वानुमान के मुताबिक 22 दिसम्बर की सुबह तक ठंड का कहर जारी रहेगा और आगे तापमान में अगर और भी गिरावट होती है तो रेड अलर्ट जारी हो सकता है.



Comment Box