अल्पसंख्यक समुदाय की लड़कियों पर मोदी सरकार मेहरबान, शादी शगुन स्कीम के तहत देगी 51 हजार

0
98

पटना. केंद्र सरकार ने अल्पसंख्यक समुदाय की लड़कियों के लिए पीएम शादी शगुन योजना शुरू की है. इस योजना को अल्पसंख्यक समुदाय की लड़कियों में उच्च शिक्षा को बढ़ावा देने के उद्देश्य से शुरू किया गया है.

इस योजना के तहत शादी से पहले स्नातक की पढ़ाई पूरी करने वाली अल्पसंख्यक समुदाय की लड़कियों को केंद्र सरकार 51 हजार रुपये देती है.


अल्पसंख्यक समुदाय में विशेष तौर पर मुस्लिम समुदाय में लड़कियों में उच्च शिक्षा की स्थिति काफी खराब है. उनके आर्थिक सहयोग और समाज में बराबरी का हक दिलाने का पीएम शादी अनुदान एक प्रयास है.

इसके लिए कौन होगा योग्य
शादी अनुदान योजना में वे लोग हिस्सा ले सकते हैं, जो गरीबी रेखा से नीचे आते हैं, यानी जिनकी वार्षिक आमदनी लगभग 57 हजार हो.

  • – अन्य पिछड़ी जाति के लोगों को आवेदन करने के लिए ऑनलाइन जाति प्रमाणपत्र के क्रमांक को शादी अनुदान योजना के आवेदन फॉर्म में उल्लेख करना अनिवार्य है.
  • – विवाह के लिए किये गये आवेदन में बेटी की उम्र शादी तक 18 साल और होने वाले वर की उम्र 21 साल अनिवार्य है.
  • – शादी अनुदान योजना एक परिवार की केवल दो पुत्रियों के लिए ही मान्य होगा.

क्या है शादी शगुन स्कीम में आवेदन की प्रक्रिया
सबसे पहले india.gov.in/schemes-maulana-azad-education-foundation पर जाना होगा. नया पंजीकरण का विकल्प दिखाई देगा. इस विकल्प के नीचे जाति के अनुसार नीचे दिये गये विकल्प में से एक विकल्प को चुनना होगा, फिर उस पर क्लिक करना होगा.

आवेदन फॉर्म खुलेगा, जिसमें आवेदक का नाम, आधार नंबर, बेटी की शादी की तारीख आदि को भरना होगा. सभी जानकारियां भरने के बाद उसे सबमिट करना होगा.

आवेदन के लिए इन दस्तावेजों को करना होगा प्रस्तुत
जाति प्रमाणपत्र, आय प्रमाणपत्र, आधार कार्ड, पहचान पत्र, बैंक खाता, मोबाइल नंबर, आवेदक का शादी प्रमाणपत्र, पासपोर्ट साइज फोटो.



Comment Box