बिहार में 18 से ज्यादा उम्र वालों के वैक्सीनेशन में 6 साल लगेंगे? मई महीने में सिर्फ 16 लाख लोग ले पायेंगे टीका

0
18

बिहार में 18 से 45 साल की उम्र वालों को कोरोना के वैक्सीन के लिए लंबा इंतजार करना होगा. बिहार में इस उम्र वर्ग के लोगों को टीका देने के लिए 11 करोड़ खुराक की जरूरत है. लेकिन मई महीने में सिर्फ 16 लाख टीका ही बिहार पहुंचेगा. अगर इसी रफ्तार से वैक्सीनेशन होती रही तो बिहार में सभी लोगों को वैक्सीन देने में लगभग 6 साल लग जायेंगे. 

बिहार के स्वास्थ्य मंत्री बोले जल्द शुरू होगा वैक्सीनेशन


बिहार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने कहा कि सूबे में 18 से 45 साल के लोगों को कोरोना का मुफ्त वैक्सीन दिलाने के लिए राज्य सरकार ने पैसे जारी कर दिये हैं. वैक्सीन निर्माता कंपनियों को इसका आर्डर भी कर दिया गया है. मई महीने में बिहार को लगभग 16 लाख वैक्सीन मिलेगा. एस्ट्रोजेनिका से कोवीशील्ड के 11 लाख 89 हजार डोज और कोवैक्सीन के 4 लाख 14 हजार डोज मिलेंगे. जैसे ही वैक्सीन बिहार पहुंचेगी वैसे ही 18 से 45 उम्र वालों का वैक्सीनेशन शुरू कर दिया जायेगा. 

वैक्सीन के लिए लंबा इंतजार करना होगा

गौरतलब है कि बिहार में 18 से 45 साल की उम्र वाले लोगों की तादाद लगभग साढ़े पांच करोड़ है. उन्हें वैक्सीन की दो खुराक देने के लिए 11 करोड़ डोज चाहिये. राज्य सरकार को एक महीने में सिर्फ 16 लाख वैक्सीन मिलने जा रहे हैं. अगर यही रफ्तार रही तो फिर वैक्सीन का  11 करोड डोज पूरा करने में 69 महीने का समय लग जायेगा. यानि लगभग 6 साल का वक्त. इस बीच 18 से ज्यादा उम्र वालों की तादाद भी बढेगी. लिहाजा ये समय औऱ लंबा खीचेंगा.

दरअसल राज्य सरकार ने एक करोड वैक्सीन खरीदने का आर्डर दिया है. लेकिन वैक्सीन की उपलब्धता के आधार पर राज्यों के बीच उसका वितरण किया जाना है. मई महीने के लिए बिहार को 16 लाख वैक्सीन देने का कोटा तय हुआ है. अगले कुछ महीनों में भी आपूर्ति बढ़ने की संभावना कम ही है.



Comment Box