बिहार में वैक्सीनेशन पर ग्रहण: 1 मई से नहीं लगेगा 18 साल से ऊपर वालों को कोरोना का टीका, सरकार के पास वैक्सीन नहीं

0
120

देशभर में एक मई से कोरोना टीकाकरण का अगला चरण शुरू होने जा रहा है. लेकिन बिहार में इसपर ग्रहण लग गया है. 18 साल से 44 साल के लोगों को एक मई से कोरोना का टीका नहीं लगेगा. बिहार स्टेट हेल्थ सोसाइटी की ओर से इसकी जानकारी दी गई है. बताया जा रहा है कि वैक्सीन की उपलब्ध्ता नहीं होने के कारण यह निर्णय लिया गया है.

बिहार में कोरोना वैक्सीनेशन पर ग्रहण लग गया है. एक मई से 18 साला से ऊपर वालों को लगने वाली कोरोना की वैक्सीन को रोक दिया गया है. बिहार स्टेट हेल्थ सोसाइटी की ओर से जानकारी दी गई है कि मई के पहले सप्ताह में बिहार में 18 साल से ऊपर वालों को वैक्सीन नहीं दी जाएगी. हालांकि उनका रजिस्ट्रेशन जारी रहेगा. सर्कार की ओर से जानकारी दी गई है कि मई के दूसरे सप्ताह से 18 साल से ऊपर वालों को कोरोना का टीका लगेगा. 


आपको बता दें कि 18 से 44 की उम्र के लोगों को कोरोना वैक्सीन लगवाने के लिए आज से ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कराना अनिवार्य होगा. सरकार ने साफ किया है कि इन लोगों को वॉक-इन यानी सीधा टीका केंद्रों पर जाकर रजिस्ट्रेशन कराने की सुविधा नहीं मिलेगी. बता दें कि रजिस्ट्रेशन करने के लिए आप कोविन पोर्टल या फिर आरोग्य सेतु ऐप का इस्तेमाल कर सकते हैं. टीकाकरण के लिए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन ही मान्य किया गया है.

स्वास्थ्य विभाग के अनुसार अभी प्रदेश के लोगों को कोविशील्ड का टीका लगेगा. बिहार में 18 से 45 साल के लोगों की आबादी 5.46 करोड़ है. कोरोना से हाहाकार के बीच युवाओं के लिए यह बुरी खबर निकल कर सामने आई है कि मई के पहले सप्ताह में उन्हें वैक्सीन नहीं दी जाएगी. 

गौरतलब हो कि इससे पहले बीते गुरूवार को बिहार के स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव प्रत्यय अमृत ने बताया था कि सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया को कोविशील्ड का ऑर्डर दिया गया है. बिहार में 18-45 साल के लोगों की आबादी 5.46 करोड़ है. उन्होंने कहा था कि सीरम ने राज्यों की तरफ से खरीद के लिए अपनी दरों की घोषणा कर दी है. 18 साल के ऊपर के लोगों को टीका लगाने के लिए हमने पहला ऑर्डर दिया है. उन्होंने कहा था कि हम वैक्सीनेशन की रणनीति तैयार कर रहे हैं. उसके बाद और वैक्सीन के लिए ऑर्डर देंगे, ताकि टीकाकरण को युद्धस्तर पर चलाया जा सके.



Comment Box