बिहार में लगेगा लॉकडाउन! कल सर्वदलीय बैठक में फैसले की संभावना, कोरोना से हालात बेकाबू, आज 6253 मरीज मिले

0
116

बिहार में कोरोना से बेकाबू होते जा रहे हालात से निपटने के लिए लॉकडाउन लगाया जा सकता है. कल होने वाली सर्वदलीय बैठक में इस पर फैसला लिया जा सकता है. सरकार ने इसका संकेत दे दिया है. उधर शुक्रवार को सूबे में कोरोना के 6253 मरीज पाये गये हैं. गुरूवार को 6 हजार 133 नये मरीज मिले थे. शुक्रवार को कल की तुलना में कम टेस्ट होने के बावजूद मरीजों की तादाद बढ़ गयी है.

नीतीश बोले- हर दिन बढ रही है तादाद
मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने आज कोरोना को लेकर हाई लेवल मीटिंग की. बाद में पत्रकारों से बात करते हुए उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमित लोगों की तादाद हर रोज बढ़ती जा रही है. सरकार अपने स्तर से व्यवस्था कर रही है. लेकिन बहुत कुछ औऱ करने की जरूरत है. नीतीश कुमार ने कहा कि राज्यपाल ने शनिवार को सर्वदलीय बैठक बुलायी है. उसमें सभी दलों के नेताओं को हालात की जानकारी दी जायेगी. बैठक में जो राय बनेगी उसके आधार पर आगे का फैसला लिया जायेगा.


प्रधान सचिव बोले-स्थिति भयावह है
उधर, स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव प्रत्यय अमृत ने शुक्रवार को वर्चुअल प्रेस कॉन्फ्रेंस के जरिये कोरोना से उत्पन्न स्थिति और उससे निपटने के लिए सरकार की ओर से किए जा रहे काम की जानकारी दी. प्रधान सचिव से जब पूछा गया कि क्या कोरोना संक्रमण की स्थिति को देखते हुए लॉकडाउन लगाया जा सकता है तो उन्होंने कहा कि इस बार की स्थिति पहले से ज्यादा भयावह है. प्रत्यय अमृत ने कहा कि कल सर्वदलीय बैठक है. लॉकडाउन या अन्य किसी भी तरह के फैलसे पर इस दौरान विचार किया जाएगा. लेकिन बिहार में जिस तरह की स्थिति है उसे देखते हुए सरकार जल्द ही कोई फैसला लेगी.

कम टेस्ट के बावजूद बढ़ गये मरीज
स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव ने बताया कि बिहार में पिछले चौबीस घंटे में 6253 नए कोरोना संक्रमित मरीज पाए गए हैं. गुरूवार को 6133 मरीज मिले थे. यानि आज फिर मरीजों की संख्या बढ़ गयी. ये हाल तब है जब शुक्रवार को गुरूवार की तुलना में कम टेस्ट हुए. बिहार में आज यानि शुक्रवार को कुल 1,00,404 टेस्ट किए गए. स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक राज्य में कोरोना का रिकवरी रेट 88.57 फीसदी है. जबकि डेथ रेट 0.55% है.



Comment Box