कोरोना की चेन तोड़ने के लिए 21 दिन का कंपलीट लॉकडाउन लगा सकती है मोदी सरकार, सेना को कर दिया गया है अलर्ट

0
106

दूसरी बात यह भी है कि इस दूसरी लहर के दौरान संक्रमण के सबसे अधिक मामले महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश, दिल्ली, छत्तीसगढ़, पंजाब समेत करीब 10 राज्यों से अधिक आ रहे हैं. तेजी से बढ़ रहे संक्रमण के मद्देनजर कुछ राज्यों में छोटा लॉकडाउन लगाया गया है, तो किसी-किसी जिले या फिर शहरों में नाइट कर्फ्यू या वीकेंड कर्फ्यू लगाया गया है. किसी-किसी राज्य में तो आंशिक बंदी भी की गई है. बावजूद इसके संक्रमण की दरों में कोई खास गिरावट नहीं देखी जा रही है.

ऐसे में खबर उभरकर यह सामने आ रही है कि राज्य सरकारों द्वारा संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए उठाए जा रहे एहतियाती कदम से काम नहीं चलने की स्थिति में केंद्र सरकार कोई कड़ा फैसला ले सकती है. हालांकि, पूरे देश में संपूर्ण लॉकडाउन को लेकर स्थिति स्पष्ट नहीं है. मीडिया में सूत्रों की सूचनाओं के आधार पर यह कहा जा रहा है कि केंद्र सरकार आने वाले दिनों में कम से कम 21 दिनों के लिए लॉकडाउन लगा सकती है, लेकिन आधिकारिक तौर पर केंद्र सरकार की ओर से इस प्रकार के कोई संकेत नहीं दिए गए है.


हालांकि, रविवार की देर रात सुप्रीम कोर्ट के एक फैसले में केंद्र सरकार को यह सलाह जरूर दी गई है कि सरकार कुछ दिनों के लिए संपूर्ण लॉकडाउन लगाना चाहिए. अगर सुप्रीम कोर्ट, कोरोना टॉस्क फोर्स, वैज्ञानिक और डॉक्टर, इन सबके द्वारा कही गई बातों के अनुसार, कोरोना की चेन तोड़ने के लिए केंद्र सरकार के पास संपूर्ण लॉकडाउन लगाना ही एकमात्र उपाय बचता है.



Comment Box