कोरोना काल में शादी : अनुमति 10 की, विवाह की पंगत में खाना खाते मिले 100 से ज्यादा

0
94

रतलाम। कोरोना महामारी के चलते जहां लाकडाउन जारी है तथा प्रशासन ने कई तरह की बंदिशें लगा रखी हैं। बसें, बाजार, अनेक ट्रेनें, सिनेमा घर, कोचिंग सहित कई जरूरी कार्यो पर रोक है, लेकिन शादी पर रोक नहीं है। केवल कुछ शर्तों का पालन कर शादी की जा सकती है। ऐसे में कई लोग नियमों का पालन कर शादी कर रहे है तो कई लोग नियमों की धज्जियां उड़ा रहे हैं। शादी की अनुमति आदेश में स्पष्ट लिखा है कि केवल 10 लोगों के बीच शादी संपन्न करना है। बावजूद इसके शादियों में भीड़ थमने का नाम नहीं ले रही है। सैलाना तहसील के ग्राम भीलो की खेड़ी में तहसीलदार जब एक शादी समारोह में अचानक पहुंचे, तो वहां हड़कंप मच गया, क्योंकि वहां नियमों को ताक पर रखकर 100 से ज्यादा लोग भोजन कर रहे थे। तहसीलदार को देख हलवाई तो वहां से भाग गया, वहीं कई लोग बहस करने लगे।

तहसीलदार चन्द्रवंशी ने बताया कि गिरधारी डामर के पुत्र की शादी कार्यक्रम में नियमों की अनदेखी पाई गई है। वहां घरेलू गैस की तीन टंकी भी मिली है। विवाह आयोजक को नोटिस जारी कर कानूनी कार्रवाई की कार्यवाही की जा रही है। गैस एजेंसी संचालक को भी नोटिस दिया जाएगा। मौके से इलेक्ट्रॉनिक सामान के बिल भी जब्त किए गए हैं। लाकडाउन में जब पूरा बाजार बंद था, तब सैलाना के बस स्टेंड स्थित श्रीराम इलेक्ट्रानिक दुकान द्वारा 25 व 28 अप्रैल की तारीख मे सामान बेचा गया। दुकान पर भी कारवाई करेंगे। शादी की पत्रिका में प्रीतिभोज का समय शाम छह बजे का लिखा था, लेकिन दोपहर में ही प्रीतिभोज शुरू हो गया। इसी प्रकार ग्राम करिया में भी दो दिन पहले ही एक युवक की शादी हो गई।


शादियों का सीजन होने से बड़ी संख्या में शादी हो रही हैं। कई लोग गलत पत्रिका छपवा कर अनुमति ले रहे हैं। विवाह का आयोजन निर्धारित समय, स्थान व निर्धारित दिन पर नहीं कर रहे हैं। वर व वधु की तरफ से दस-दस लोग ही शादी में शामिल होना चाहिए, लेकिन बड़ी संख्या में लोग शामिल हो रहे हैं। बरात निकालने पर प्रतिबंध है, लेकिन कतिपय लोग बरात भी निकाल रहे है। दो दिन पहले ताल थाना क्षेत्र के ग्राम मंडावल में एक दूल्हे की बरात निकाली थी। पुलिस ने मामले में संबंधित आयोजक के खिलाफ प्रकरण दर्ज किया था।



Comment Box