ऑक्सीजन लेवल कम होते ही दिख सकते है ये लक्षण, Oximeter के बिना भी आपको लग जाएगा अंदाजा !

0
113

नए कोरोना वेरिएंट ने कई मरीजों की जिंदगी ले ली और लगातार लोगों को अपनी चपेट में ले रहा है. कई मरीज ऑक्सीजन की कमी से दम तोड़ रहे हैं तो कई लोग घर में ही ऑक्सीजन लेवल बढ़ाने के लिए एक से बढ़कर एक उपाय कर रहे है. लेकिन, आपने कभी सोचा है कि ऑक्सीजन की अचानक कमी होने से मरीज के बर्ताव में क्या बदलाव आने लगता है. आइये जानते हैं ऑक्सीजन की कमी होने के क्या हो सकते है लक्षण…

जैसा कि ज्ञात हो नए कोरोना के आते ही मार्केट में ऑक्सीजन चेक करने वाली मशीन पल्स ऑक्सीमीटर की डिमांड अचानक से बढ़ गई है. यह एक तरह का डिवाइस है जिसे उंगली में लगाते ही ऑक्सीजन का लेवल बता देता है. यदि रीडिंग में 94 से ऊपर दिखे तो खतरे से बाहर माना जाता है. वहीं, 90-93 तक दिखने पर खतरा बढ़ते माना गया है. हालांकि, ऐसी स्थिति में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा बताए गए Proning Exercise को आप घर में कर सकते है. ऐसा दावा है कि इससे ऑक्सीजन लेवल बढ़ता है. जबकि, 80 से 89 के बीच रहने पर अलार्मिंग सिचुएशन माना जाता है. इस कंडीशन में मरीज को फौरन ऑक्सीजन चढ़ाने की जरूरत पड़ती है.


ऑक्सीजन लेवल कम होने के लक्षण

  • स्वास्थ्य विशेषज्ञों की मानें तो यदि ऑक्सीजन लेवल आपका कम होता है तो होठों के रंग में बदलाव आ जाता है. आपके होंठ निले पड़ सकते हैं. जिसे स्यानोसिस का पहचान भी माना जा सकता है.
  • वहीं, ऑक्सीजन लेवल यदि सही रहा तो लाल या गुलाबी रंग में आपका चेहरा ग्लो करता रहता है.
  • लेकिन, ऑक्सीजन लेवल गिरते ही मरीज की छाती में अचानक से दर्द हो सकता है.
  • सांस लेने में तकलीफ होने लगती है.
  • बेचैनी सी महसूस होने लगेगी.
  • असहनीय सिर दर्द चालू हो जाएगा, और
  • लगातार खांसी से भी मरीज परेशान रह सकता है.
  • ऐसी स्थिति में फौरन डॉक्टर से दिखा कर मरीज को अस्पताल में भर्ती कराने की जरूरत पड़ती है.


Comment Box