अपने शौक के लिए नाबालिग ने कर लिया इतना गंदा काम, इस घटना से पुलिस भी रह गई हैरान

0
100

गया के मगध विवि थाना क्षेत्र में मंगलवार को हुई चोरी की घटना का पर्दाफाश पुलिस ने कर लिया है। महज 24 घंटे में पुलिस मामले की तह तक पहुंच गई। इस घटना को वादी के रिश्‍तेदार युवक ने ही अंजाम दिया था।

अपना शौक पूरा करने के लिए कोई कैसे इतना बड़ा अपराध कर सकता है, यह समाज के सामने एक प्रश्‍न है। गया में हुई इस घटना ने पुलिस को भी हैरान कर दिया है। जहां किसी शातिर चोर ने नहीं बल्कि एक नाबालिग ने बस इसलिए डेढ़ लाख रुपये की चोरी कर ली कि वह एक शानदार मोबाइल खरीदना चाहता था। दरअसल मगध यूनिवर्सिटी थाना इलाके के कोशिला गांव निवासी पंकज पांडेय के बंद घर से हुई चोरी मामले का पर्दाफाश पुलिस ने पुलिस ने उद्भेदन कर लिया है। पुलिस ने चोरी गए 78 हजार रुपये, चोरी के रुपये से खरीदा गया मोबाइल व अन्‍य सामान बरामद कर लिया है। इस घटना को गांव के ही नाबालिग लड़के ने अंजाम दिया था।


उन्होंने बताया कि अनुसंधान के क्रम में पुलिस को सूचना मिली कि वादी के पड़ोस में रहने वाले रिश्तेदार का 16 वर्षीय पुत्र स्कूल के पास कुछ बच्चों में एक-एक रुपये का नोट बांट रहा है। इससे पुलिस के कान खड़े हो गए। इसके बाद पंकज पांडेय से जानकारी ली गई तो पता चला कि उनके आलमारी में काफी समय से एक-एक रुपये का नोट रखा हुआ था। इसके बाद कुछ ग्रामीणों से पूछताछ की गई। तब पता चला कि यह पड़ोसी लड़के की करतूत है। पुलिस ने उससे पूछताछ की तो सारा मामला सामने आ गया।

मोबाइल खरीदने के लिए की  डेढ़ लाख की चोरी

नाबालिग ने अपना गुनाह कबूल करते हुए बताया कि उसे मोबाइल खरीदना था। लेकिन पैसे थे नहीं। इसी दौरान कुछ दिनों से बंद पड़े पंकज पांडेय के बंद घर में चोरी का प्लान बनाया। उसने बताया कि वह वेंटिलेटर से अंदर घुसा। आलमीरा को तोड़कर उसमें रखे लगभग डेढ़ लाख रुपये निकाल लिए। इसके बाद उसने चोरी के पैसे ही 20 हजार रुपये का मोबाइल खरीदा। इसके बाद 78 हजार रुपये अपने घर में रखे भूसे में छिपा दिया। मालूम हो कि पंकज पांडेय ने चोरी की प्राथमिकी मगध यूनिवर्सिटी थाने में मंगलवार को दर्ज कराई थी। पुलिस ने त्वरित करवाई करते हुए पूरे मामले का पर्दाफाश बुधवार को कर दिया।



Comment Box